Home Blog

Tandav पर तांडव, वेब सीरीज विवाद में सूचना प्रसारण मंत्रालय ने ऐमजॉन प्राइम वीडियोज के अधिकारियों को तलब किया

0

  • तांडव वेब सीरीज को लेकर बवाल जारी
  • सूचना प्रसारण मंत्रालय ने ऐमजॉन प्राइम वीडियोज के अधिकारियों को किया तलब
  • सीरीज में हिंदुओं की भवनाओं को आहत करने का आरोप
  • बीजेपी सांसद मनोज कोटक ने उठाए थे सवाल

नई दिल्ली / वेब सीरीज तांडव को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने के आरोप के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने आज ऐमजॉन प्राइम वीडियो के अधिकारियों को तलब किया है। मंत्रालय ने ऐमजॉन प्राइम वीडियोज को इस बारे में नोटिस जारी कर सफाई मांगी है। बीजेपी सांसद मनोज कोटक और विधायक राम कदम ने सीरीज में हिंदुओं की भावनाओं का मजाक उड़ाने का लगाया था आरोप।

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने वेब सीरीज ‘तांडव’ में हिंदू देवी-देवताओं का कथित तौर पर उपहास उड़ाने की शिकायतों का संज्ञान लिया है। मंत्रालय ने रविवार को स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म ऐमजॉन प्राइम वीडियो को नोटिस जारी कर सफाई मांगी है। रविवार को ही बीजेपी सांसद मनोज कोटक ने सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर को खत लिखकर ‘तांडव’ वेब सीरीज पर बैन की मांग की थी।

बीजेपी सांसद मनोज कोटक ने सीरीज पर सवाल उठाते हुए कहा था लगातार वेब सीरीज के नाम पर ऐंटी हिंदू कॉन्टेंट परोसा जा रहा है जिसपर तुरंत रोक लगाए जाने की सख्त जरूरत है। उन्होंने कहा कि फिल्मों और वेब सीरीज में हिंदू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाया जाता है जिससे हिंदू भावनाओं को ठेस पहुंचती हैं।

‘तांडव’ में सैफ अली खान, डिंपल कपाड़िया, सुनील ग्रोवर, तिग्मांशु धुलिया, डीनो मोरिया, कुमुद मिश्रा, मोहम्मद जीशान अयूब, गौहर खान और कृतिका कामरा प्रमुख भूमिकाों में हैं। अली अब्बास जफर ने इसे डायरेक्ट किया है जबकि इसकी पटकथा ‘आर्टिकल 15’ फेम गौरव सोलंकी ने लिखी है।

करंट की चपेट में आई यात्रियों से भरी बस, 6 लोगों की मौत

0

  • राजस्थान के जालोर जिले के महेशपुरा गांव में करंट की चपेट में आई यात्रियों से भरी बस
  • डंडे की मदद से बिजली के तार को ऊपर उठा कर बस को निकालने की कोशिश में हुआ हादसा
  • पुलिस प्रशासन ने बस कंडक्टर और ड्राइवर की मौत की पुष्टि की


राजस्थान के जालोर जिले के महेशपुरा गांव में देर रात भयानक दुर्घटना घटी। यहां यात्रियों से भरी एक बस बिजली के तार की चपेट में आ गई। बस में करंट आने से बस में सवार यात्रियों में से कई लोगों की मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई है। हादसे में अब तक 6 लोगों की मौत की पुष्टि हो गई है, जबकि 6 गंभीर घायलों को जालौर से जोधपुर के एमडीएम अस्पताल के लिए रेफर किया गया है। बाकी के घायलों का अस्पताल में इलाज जारी है।

मिली जानकारी के मुताबिक, राजस्थान के जालोर जिले के महेशपुर गांव में भीषण हादसा हुआ है। यात्रियों से भरी हुई दो बसें रास्ता भटकीं और एक गांव में पहुंच गई। वहां रास्ते में बिजली के तार झूलते देख ड्राइवर ने बस रोक दी। बस का कंडक्टर या खलासी बस की छत पर पहुंचा और एक डंडे की मदद से बिजली के तार को ऊपर उठा कर बस को निकालने की कोशिश की जा रही थी।


इसी दौरान डंडे से बिजली का तार झटक कर कंडक्टर के गले में अटक गया। जिससे कंडक्टर और बस में करंट दौड़ गया। कंटक्टर मौके पर ही झुलस गया। जिस वक्त हादसा हुआ उस वक्त बस में मौजूद अन्य यात्रियों को भी करंट लगा। इधर बस ने आग पकड़ ली। दो में से एक बस आग में जल गई।

bus
घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पुलिस और प्रशासन की टीम पहुंच गई है। एक डेड बॉडी बस से बाहर निकाली जा चुकी है कई अन्य यात्रियों की मौत की भी आशंका है। पुलिस प्रशासन ने बस कंडक्टर और ड्राइवर की मौत की पुष्टि की है। जबकि अन्य घायलों को ग्रामीणों की मदद से अस्पताल पहुंचाया गया है। समाचार लिखे जाने तक राहत और बचाव कार्य जारी है।

मृतकों की लिस्ट
1- श्रीमती सोनल जैन पत्नी अनिल जैन, उम्र 44 वर्ष, शाहपूरा, ब्यावर अजमेर

2- श्रीमती सुरभी पत्नी अंकित जैन, उम्र 25 वर्ष, ब्यावर अजमेर
3- श्रीमती चांद देवी पत्नी गजराज सिंह, उम्र 65 वर्षा, ब्यावर
4- श्री राजेंद्र जैन पुत्र दौलचंद्र जैन, उम्र 58 साल, अजमेर
5- बस ड्राइवर, धर्मचंद्र जैन, प्रजापति ट्रेवल्स
6- खलासी

छत्तीसगढ़ मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज के सम्मेलन में शामिल हुए CM भूपेश बघेल

0

कॉलेज भवन और सामुदायिक भवन निर्माण की स्वीकृति की घोषणा

धान खरीदी की मात्रा और किसानों की संख्या में निरंतर इजाफा
ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती देने में गौठानों की अहम भूमिका
ग्रामीण आजीविका के महत्वपूर्ण केन्द्र के रूप में तब्दील हो रहे गौठान

 

    रायपुर / मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज बलौदाबाजार जिले के ग्राम वटगन मंे आयोजित पलारी राज छत्तीसगढ़ मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज के 75वें राजअधिवेशन में शामिल हुए। उन्होंने समाज के पूर्वजों को श्रद्धासुमन अर्पित कर सम्मेलन का शुभारंभ किया। 


     श्री बघेल ने सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए ग्राम वटगन में संचालित शासकीय महाविद्यालय के भवन निर्माण और कुर्मी समाज के सामुदायिक भवन बनाने के लिए 35 लाख रूपये की स्वीकृति की घोषणा की है। उन्होंने प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को समाज की ओर से सम्मानित भी किया। सम्मेलन की अध्यक्षता कुर्मी समाज के केन्द्रीय अध्यक्ष डॉ. रामकुमार सिरमौर ने की। इस अवसर पर राज्यसभा सांसद श्रीमती छाया वर्मा, संसदीय सचिव सुश्री शकुन्तला साहू, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री राकेश वर्मा, छत्तीसगढ़ राज्य कृषक कल्याण परिषद के अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र शर्मा और छत्तीसगढ़ राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री गिरिश देवांगन, पूर्व विधायक श्री जनकराम वर्मा विशेष रूप से उपस्थित थे। 


         मुख्यमंत्री श्री बघेल ने मुख्य अतिथि की आसंदी से सम्मेलन में कहा कि छत्तीसगढ़ में नई सरकार के गठन के बाद धान खरीदी की मात्रा और किसानों की संख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है। तीन साल पहले जहां केवल 15 लाख किसानों से धान खरीदी होती थी, वहीं आज साढ़े 21 लाख किसान समितियों में धान बेच रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसानों को न्याय दिलाने के लिए ही हमारे पूर्वजों ने छत्तीसगढ़ राज्य का निर्माण किया है। धान, मक्का,गन्ना के बाद राज्य की सरकार ने अब कोदो-कुटकी को भी समर्थन मूल्य पर खरीदने का फैसला लिया है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि कोरोना संकट से उपजे बारदानें की प्रारंभिक समस्या के बाद भी सफलता पूर्वक धान खरीदी चल रही है। अब तक किसानों से 76 लाख मीटरिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। बारदानों की स्थानीय व्यवस्था एवं किसानों के सहयोग के कारण धान खरीदी सुचारू तरीके से कर पाये हैं। उन्होंने कहा कि हम दिनों-दिन समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का दायरा बढ़ा रहे हैं। नई सरकार के शुरूआती साल में जहां लगभग 80 लाख मीटरिक टन धान की खरीदी हुई थी, वहीं इस वर्ष लगभग 89 लाख मीटरिक टन धान खरीदी का अनुमान है।


          मुख्यमंत्री नेे बताया कि भारत सरकार की अनुमति से ही राज्य सरकारें धान खरीदी का कार्य करती हैं। केन्द्र सरकार से फिलहाल केवल 24 लाख मीटरिक टन चावल लेने की अनुमति मिली है। जबकि 60 लाख मीटरिक टन चावल लिया जाना प्रस्तावित किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि टीका आने के बाद कोरोना बीमारी से अंतिम लड़ाई की शुरूआत हो चुकी है। फरवरी महीने के अंत तक आम जनता को टीके लगने शुरू हो जाने की संभावना जताई गई है। फिर भी इस जानलेवा बीमारी से बचाव के लिए घोषित उपायों का पालन करते रहना जरूरी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2 रूपये किलो पर गोबर खरीदी का कार्य केवल छत्तीसगढ़ में हो रहा है। देश और दुनिया में कहीं पर भी गोबर खरीदी नहीं होती हैं। लोग इसे अजूबा समझ कर प्रक्रिया को समझने छत्तीसगढ़ पहंुच रहे हैं। 


      मुख्यमंत्री ने कहा कि गौठान को हम केवल गाय-बैल को एकत्र कर रखने का केवल ठौर हीं नहीं बल्कि इसे ग्रामीण आजीविका के महत्वपूर्ण केन्द्र के रूप में विकसित कर रहे हैं। स्थानीय महिलाएं वर्मी कम्पोस्ट के साथ ही धूप, अगरबत्ती सहित स्थानीय जरूरत की तमाम चीजें तैयार कर रही हैं। खाली पड़े जमीन पर साग-सब्जी उपजा कर अतिरिक्त आमदनी भी अर्जित कर रहे हैं। गोबर से लोगों को इतनी ज्यादा आमदनी हो रही है कि कुछ लोग शान-शौकत की चीज फटफटी और मंगलसूत्र भी खरीद रहे हैं। ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने का गौठान अच्छा माध्यम साबित हो रहे हैं। समारोह को सांसद श्रीमती छाया वर्मा ने भी सम्बोधित किया। कुर्मी क्षत्रिय समाज के केन्द्रीय अध्यक्ष डॉ. रामकुमार सिरमौर ने स्वागत भाषण दिया। उन्होंने कहा कि ग्राम विकास और स्वराज के गांधी जी के सपने को मुख्यमंत्री श्री बघेल आगे बढ़ा रहे हैं।

इस अवसर पर कलेक्टर सुनील कुमार जैन,एसपी आई.के.एलेसेला सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण और कुर्मी समाज के राजप्रधान और पदाधिकारी उपस्थित थे।

खेल और खिलाड़ियों को आगे लाने राज्य सरकार हर संभव मदद के लिए तत्पर : मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया

0

नगरीय प्रशासन मंत्री ने पलौद में 58 साल से चली आ रही कबड्ड़ी प्रतियोगिता का शुभारंभ किया

क्षेत्रीय कबड्डी प्रतिगोगिता को टॉस कर खिलाडियों का किया उत्साहवर्धन

आयोजक मंडल को जनसंपर्क मद से 25 हजार का अनुदान
 

    रायपुर / नगरीय प्रशासन और श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने शनिवार को आरंग विकासखण्ड के ग्राम पलौद में 58 वर्ष से चली आ रही कबड्डी प्रतियोगिता का शुभारम्भ किया। उन्होंने क्षेत्रीय कबड्डी प्रतियोगिता में टॉस कर और खिलाड़ियों से मुलाकात कर उनका उत्साहवर्धन किया। पलौद के जय बजरंग दल और पंडरी रायपुर से आये खिलाड़ियों को जीत के लिए हरसंभव कोशिश करने की सीख दी। डॉ. डहरिया ने इस मौके पर चंद्राकर समाज भवन के समीप शेड निर्माण के लिए 6 लाख के विकास कार्यो का भूमिपूजन किया। उन्होंने कबड्डी आयोजक मंडल को  जनसंपर्क मद से 25 हजार रुपये देने की घोषणा की। 


     मंत्री डॉ. डहरिया ने कहा कि राज्य सरकार नई नीति बनाकर युवाओं को सभी क्षेत्र में आगे लाने हर संभव प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया कि सरकार ग्रामीण स्तर से ही युवाओ में खेल के प्रति रुचि बढ़ाने का काम कर रही है, ताकि प्रदेश के उत्कृष्ट खिलाड़ी सामने आये और राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छत्तीसगढ़ का नाम रोशन करें। उन्होंने कहा कि पलौद में सभी समाज एक साथ मिल-जुलकर आपसी भाईचारा एवं सौहाद्र्र के साथ गाँव के विकास के लिए तत्पर है। पलौद के ग्रामीणों द्वारा किये जा रहे  कार्य अन्य गांवो के लिए अनुकरणीय है। दूसरे गांव भी यहां के कार्यो का अनुसरण कर सामाजिक समरसता के साथ आगे बढ़ सकते हैं।

इस अवसर पर जनपद पंचायत आरंग के अध्यक्ष खिलेश देवांगन सहित ग्रामीण और बड़ी संख्या में खिलाड़ी उपस्थित थे।

छत्तीसगढ़ में गठित होगा तेलघानी बोर्ड : CM श्री बघेल ने की घोषणा

0

रायपुर संभाग के पाॅचों जिले के लिए सामाजिक भवन निर्माण के लिए 20-20 लाख रूपए देने की घोषणा की

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल साहू समाज के युवक-युवती परिचय सम्मेलन, पत्रिका विमोचन एवं अलंकरण समारोह में शामिल हुए

    रायपुर / छत्तीसगढ़ में तेलघानी बोर्ड का गठन किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज महासमुंद में साहू समाज के संभाग स्तरीय युवक-युवती परिचय सम्मेलन, पत्रिका विमोचन एवं अलंकरण समारोह को संबोधित करते हुए यह घोषणा की। तेलघानी बोर्ड के गठन से इस कार्य से जुड़े लोगों को एक नई पहचान मिलेगी और रोजगार के नये अवसर मिलेंगे।


    मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि साहू समाज प्रगतिशील समाज है। इस समाज ने शिक्षा सहित अन्य सामाजिक क्षेत्रों में सदैव अग्रणी कार्य किया है। कोरोना काल में भी सभी समाजों ने आगे बढ़कर काम किया। हमारे राज्य के सभी समाज की खूबी यह है कि हर परिस्थितियों के हिसाब से वे अपने आप को ढाल लेते है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस मौके पर तेलघानी बोर्ड बनाने की घोषणा की। इसके बनने से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे, साथ ही मुख्यमंत्री ने समाज की माँग पर रायपुर संभाग के पाँचों जिले रायपुर, महासमुन्द, धमतरी, गरियाबंद, बलौदाबाजार में सामाजिक भवन निर्माण के लिए 20-20 लाख रुपए देने की घोषणा भी की।
    

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि सामाजिक जागरूकता के मामले में साहू समाज ने हमेशा दिशा दिखाई है। कोरोना काल में भी साहू समाज सहित सभी समाजों ने आगे आकर अपनी सामाजिक दायित्वों का निर्वहन बाखूबी किए हैं। इसके लिए सभी बधाई के पात्र हैं। 


    कार्यक्रम की अध्यक्षता गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने की। जिले के साहू समाज द्वारा महासमुंद में पहली बार संभाग स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। विशिष्ट अतिथि के तौर पर संसदीय सचिव एवं खल्लारी विधायक द्वारिकाधीश यादव, पूर्व मंत्री एवं अभनपुर विधायक धनेन्द्र कुमार साहू, प्रदेश अध्यक्ष अर्जुन हिरवानी, मोतीलाल साहू सहित महासमुन्द विधायक विनोद चन्द्राकर, बसना विधायक देवेन्द्र बहादुर सिंह और सरायपाली विधायक किस्मतलाल नंद, कसडोल विधायक सुश्री शकुन्तला साहू, पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष थानेश्वर साहू सहित अन्य जन प्रतिनिधिगण एवं समाज प्रमुख उपस्थित थे।
    

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कार्यक्रम में तीन पुस्तकों का विमोचन किया। इनमें साहू समाज के नोनी बाबू परिचय पुस्तक, सिरपुर ऐतिहासिक धरोहर एवं हमर पुलिस हमर संग शामिल हैं। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने साहू समाज की आराध्य देवी माता कर्मा की मूर्ति पर दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री और अतिथियों ने समाजिक कार्य में उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्तियों को सम्मानित भी किया।


    गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि किसी भी समाज की बुराई को दूर करने के लिए सबसे पहले अपने आप में सुधार लाना आवश्यक हैं तभी समाज में सुधार हो सकता हैं। हम सुधरेंगे तभी हम अच्छे समाज का निर्माण कर पायेंगे। हमारे समाज के लोगों को अपने से कमजोर वर्ग के लोगों का विशेष ध्यान रखना चाहिए और उन्हें आगे बढ़ाने के लिए कार्य करना चाहिए। कार्यक्रम को पूर्व मंत्री एवं विधायक धनेन्द्र साहू ने भी संबोधित किया।

भाजपा किसान मोर्चा की प्रदेश कार्यकारिणी, जिला अध्यक्षों की सूची घोषित, प्रदेशाध्यक्ष श्याम बिहारी ने की घोषणा

0

रायपुर / भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा की प्रदेश कार्यकारिणी घोषित कर दी गई है। दो प्रदेश महामंत्री, 6 उपाध्यक्ष और 6 प्रदेश मंत्री बनाए गए हैं। साथ ही जिला अध्यक्षों की भी घोषणा की गई है।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष विष्णु देव साय, प्रदेश महामंत्री संगठन पवन साय की सहमति से भाजपा किसान मोर्चा छत्तीसगढ़ प्रदेशाध्यक्ष श्याम बिहारी जायसवाल ने प्रदेश कार्यसमिति व जिलाध्यक्षों की घोषणा की हैं।

नाम इस प्रकार हैं……

शराब के अवैध कारोबार में लिप्त चार आरोपी गिरफ्तार : मंहगे ब्राण्ड की विदेश मदिरा सहित मध्यप्रदेश के लेबल वाली 7 पेटी गोवा स्पेशल मदिरा जब्त

0

जब्त शराब और वाहन की कीमत 9 लाख रूपए से अधिक

    रायपुर / राज्य में आबकारी विभाग द्वारा अन्य प्रान्तों से छत्तीसगढ में आने वाली अवैध मदिरा के धरपकड़ हेतु संचालित सघन अभियान के तहत 15 जनवरी शुक्रवार को बिलासपुर जिले में तीन अलग-अलग मामलों में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें एक आरोपी गणेश कुमार जैन सीआरपीएफ की 65वीं बटालियन का सिपाही है। आबकारी विभाग की टीम ने धरपकड़ अभियान के दौरान मंहगे ब्राण्ड की विदेशी मदिरा सहित मध्यप्रदेश की लेबल वाली 7 पेटी गोवा स्पेशल मदिरा जब्त करने के साथ ही शराब के अवैध परिवहन में प्रयुक्त एक्टिवा एवं सेन्ट्रो कार भी जब्त की है। जब्त शराब एवं वाहन की कीमत 9 लाख रूपए से अधिक की आंकी गयी है। 

    आबकारी मंत्री कवासी लखमा के निर्देशानुसार विभागीय अधिकारियों की टीम द्वारा अन्य प्रान्तों से छत्तीसगढ़ में आने वाली अवैध मदिरा के धरपकड़ का अभियान पूरे प्रदेश में संचालित किया जा रहा है। आबकारी आयुक्त श्री निरंजन दास तथा सी.एस.एम.सी.एल. के प्रबंध संचालक श्री ए.पी. त्रिपाठी इस अभियान की लगातार माॅनीटरिंग कर रहे है। 15 जनवरी को आबकारी विभाग की टीम ने बिलासपुर के नेहरू नगर निवासी मनोज खन्ना पिता गोवर्धन खन्ना से रेड लेबल की 01 पेटी मदिरा को विक्रय करने हेतु काले रंग की एक्टिवा में रखकर घर से निकलते ही धर-दबोचा। पूछताछ में मनोज खन्ना के नेहरू नगर स्थित उसके रिहायशी मकान से कुल 2 लाख 27 हजार 106 रूपये कीमत की मंहगे ब्राण्ड की विदेशी मदिरा, 60 हजार मूल्य की एक्टिवा तथा 20 हजार रूपए मूल्य के चार बड़े ट्रैव्हल बैग की बरामदगी की गई। प्रारंभिक पूछताछ के दौरान आरोपी मनोज खन्ना बार-बार बयान बदल रहा था जिसे कड़ाई से पूछने पर उसने मध्य प्रदेश तथा कोलकाता आदि स्थानों से बड़े टैªवल बैग में इम्पोर्टेड विदेशी मदिरा बिलासपुर लाकर विभिन्न हाई प्रोफाईल ग्राहको को लंबे समय से विक्रय किया जाना स्वीकार किया है। आरोपी मनोज खन्ना के विरूद्ध छत्तीसगढ़ आबकारी अधिनियम 1915 की धारा 34(1)(क), 34(2), 36 व 59(क) के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया गया। मनोज खन्ना से गहन पूछताछ करने पर रात्रि में 03 पेटी रेड लेबल विदेशी मदिरा रायपुर से आने की जानकारी मिली। उक्त सूचना के आधार पर आबकारी टीम द्वारा रायपुर से बिलासपुर की ओर अंग्रेजी मदिरा डिलीवरी आ रही सफेद एवं पीले रंग की सेंन्ट्रो सी.जी.04 बी 7535 में परिवहन करते हुये 03 पेटी रेड लेबल कीमती 102960/- रूपये की वाहन सेंन्ट्रो सहित आरोपियों गणेश कुमार जैन पिता रामानंद जैन उम्र 35 वर्ष तथा अमित कुमार यादव पिता कृष्णाअवतार यादव को गिरफ्तार कर गैर जमानतीय प्रकरण कायम किया गया है। ज्ञात हो कि आरोपी गणेश कुमार जैन सीआरपीएफ की 65वीं बटालियन का सिपाही है, जिसने अपनी पदस्थापना रायपुर के सीआरपीएफ महानिरीक्षक कार्यालय में होना बताया है। पूछताछ के दौरान सीआरपीएफ के जवान ने बताया कि उसके द्वारा अपने वर्दी को ढाल बनाकर रास्ते में समस्त जांच चैकी एवं नाके से अवैध शराब से भरे वाहन को पार कराया गया।

उपायुक्त आबकारी श्रीमती नीतू नोतानी ने बताया कि एक अन्य प्रकरण में पचपेड़ी थाना क्षेत्र में श्रीमती सरोजनी बाई सोनी पति नंदकुमार सोनी के घर में रखी 07 पेटी मध्यप्रदेश में विक्रय हेतु लेबल लगी हुई गोवा स्पेशल मदिरा की जब्ती कर गैर जमानतीय प्रकरण कायम किया गया है। 

विवेचना एवं सघन पूछताछ हेतु विशेष टीम गठित 

भारी मात्रा में अन्य प्रांतो में विक्रय हेतु अधिकृत विदेशी मदिरा की जब्ती के आधार पर गहन विवेचना एवं सघन पूछताछ हेतु उपायुक्त आबकारी बिलासपुर द्वारा सहायक जिला आबकारी अधिकारी एस.के. द्विवेदी, सहायक जिला आबकारी अधिकारी रवीन्द्र पाण्डेय एवं आबकारी उपनिरीक्षक आशीष सिंह, धीरज कन्नौजिया, आंनद वर्मा, मुकेश पाण्डेय एवं दीपक सिंह तथा चुनिंदा आबकारी स्टाॅफ की एक विशेष टीम का गठन किया गया है।

कुल 165714 लोगों को लगी वैक्सीन, टीकाकरण अभियान को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया सफल

0

नई दिल्‍ली / देश में कोरोना महामारी के खिलाफ शुरू किए गए टीकाकरण अभियान को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सफल बताया है। शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी ने देश के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत की। पहले चरण में देश के स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जा रहा है।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने ऑक्‍सफोर्ड एस्‍ट्राजेनेका की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की वैक्सीन टीके के साथ इस टीकाकरण अभियान शुरू किया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि टीकाकरण अभियान का पहला दिन काफी सफल रहा है और अभी तक टीके का कोई साइड इफेक्ट भी नहीं आया है। दिन भर में टीकाकरण के बाद अस्पताल में भर्ती होने का कोई मामला सामने नहीं आया है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने बताया कि शनिवार शाम 5:30 बजे तक पूरे देश में 1,65,714 लोगों को कोविड वैक्सीन का टीका लगाया गया था।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने बताया कि पहले दिन 3351 सत्र में टीकाकरण का कार्यक्रम संपन्न हुआ। इस दौरान दोनों वैक्सीन का इस्तेमाल किया गया। कोवि‍शिल्‍ड की आपूर्ति सभी राज्यों में की गई है, जबकि कोवैक्‍सीन के डोज सिर्फ 12 राज्यों में भेजे गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि चूंकि यह टीकाकरण का पहला दिन था इसलिए कुछ समस्‍याएं भी सामने आईं, लेकिन किसी को वैक्सीन के साइड इफेक्ट नहीं दिखे हैं। टीकाकरण कार्यक्रम के संचालन में कुछ व्यवस्थागत खामियां जरूर देखी गई है। पहले दिन देशभर में कुल 16,755 कर्मचारियों ने इस महाभियान में मदद की।

भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को लेकर सियासी हस्तियों की ओर से भी सवाल उठाए जाने पर जहां एक तरफ सियासत हो रही है। वहीं दूसरी ओर कंपनी ने वैक्सीन को पूरी तरह से सुरक्षित बताया है। हालांकि देश के वैज्ञानिकों और स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों ने सवाल उठाने वालों को करारा जवाब भी दिया है। इस बीच कोवैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक ने कहा है कि अगर उसकी कोरोना वैक्सीन लेने के बाद किसी पर गंभीर दुष्प्रभाव पड़ता है तो वह पीडि़त व्यक्ति को मुआवजा देगी।

गौरतलब है कि भारत बायोटेक ने कोवैक्सीन के नाम से स्वदेशी टीका विकसित किया है, जिसकी 55 लाख डोज सरकार ने खरीदे हैं और टीकाकरण अभियान में इसका उपयोग हो रहा है। हालांकि की पहले दिन के टीकाकरण कार्यक्रम में कोवैक्सीन के कोई साइड इफेक्ट सामने नहीं आए हैं।

169 फ्रंटलाइन वर्करो को लगा कोविड-19 का टीका, प्रतिरक्षित लोगों को दूसरी डोज 28वें दिन

0

कोरिया / जिले में फ्रंटलाइन वर्करो को कोरोना का पहला टीका लगने के साथ ही शनिवार को कोविड टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई है। प्रतिरक्षित लोगों को कोविड प्रतिरक्षित लोगों को दूसरी डोज 28 वें दिन लगेगी इसके लिए उनके मोबाइल पर मैसेज भी आएगा।


जिले में पटना सेक्टर में आरएचओ दिनेश कुमार साहू ,चिरमिरी में डां जयंत यादव और मनेन्द्रगढ में बीइई सोमेंन्द्र मंडल सबसे पहले टीका लेने वालों में शामिल रहे। हर सेंटर पर एक दिन में औसतन 100 लोगों का वैक्सीन लगाई जाएगी। चिरमिरी में पहला टीका लगवाने वाले डां जयंत यादव ने बताया” टीके को लेकर उन्हें पहले से जिज्ञासा रही टीका पूर्ण रूप से सुरक्षित है ,किसी तरह की भी अफवाह से दूर रहकर सभी को टीका लगवाना चाहिए।“


कलेक्टर कोरिया सत्यनारायण राठौर ने बताया कि कोरोना वायरस की अब उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। विश्व में तबाही मचाने वाले कोविड-19 वायरस जैसी विकराल समस्या का अब समाधान निकल चुका है। जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के कुल 03 सेशन साइटो में भी जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की निगरानी में टीके को लांच किया गया।
पटना सेशन साइट में मौजूद रही संसदीय सचिव और स्थानीय विधायक श्रीमती अम्बिका सिंहदेव ने कहा, ‘‘ केंद्र सरकार की योजना के अनुसार सबसे पहले वैक्सीन स्वास्थ्यकर्मियों को दी जा रही है. इतने बड़े स्तर का टीकाकरण अभियान पहले कभी नहीं चलाया गया। इस अभियान को जनजागरूकता से सफल बनाना हम सब की जिम्मेदारी है।‘’


चिरमिरी सेशन साइट में मौजूद रहे विधायक डां विनय जायसवाल ने कहा: हमारी लिए कोरोना को मात देना बडी चुनौती रही । आज वो वैज्ञानिक, वैक्सीन रिसर्च से जुड़े अनेकों लोग विशेष प्रशंसा के हकदार हैं, जो बीते कई महीनों से कोरोना के खिलाफ वैक्सीन बनाने में जुटे थे।‘’ मनेन्द्रगढ सेशन साइट पर मौजूद रहे सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विधायक श्री गुलाब कमरो ने कहा:हमे अब सर्तक रहकर इस महाभियान को सफल बनाना है और टीकाकरण को लेकर अफवाहों से दूर रहना है| शासन के निर्देषानुसार फ्रंटलाइन वर्करो को पहले टीका लगाया जा रहा है फिर बारी बारी से सभी को टीका लगेगा उन्होने जनसमुदाय से अपील करते हुए कहा मास्क और दो गज दूरी का पालन अवष्य करे।‘’


मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ रामेश्वर शर्मा ने बताया कोरोना को मात देने के लिए वैक्सीन जिले को प्राप्त हो चुकी हैं। शनिवार को लांचिंग के लिए जिला, ब्लॉक एवं सत्र स्तर पर नोडल अधिकारियों और पर्यवेक्षकों को नामित किया गया था। इसके पहले जिले में दो बार ड्राई रन यानी पूर्वाभ्यास भी किया जा चुका है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि भारत में विकसित कोरोना वैक्सीन पूरी तरह प्रभावी है। कोल्ड चेन के मानकों को पूर्ण करते हुये यह वैक्सीन जिले में आई है। अत्याधुनिक तकनीक से हम कोल्ड चेन बनाए हुये हैं।


जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ .एस.एस. सिंह ने बताया कि कोई व्यक्ति बिना पंजीकरण के कोरोना वैक्सीन नहीं प्राप्त कर सकता है । कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पंजीकरण के बाद ही सत्र स्थल और समय की जानकारी दी जायेगी । कोविड वैक्सीनेशन सप्ताह में 4 दिन ही होगा. जनवरी में इसके लिए 16, 18, 20, 21, 23, 25, 27, 28, और 30 जनवरी को सत्र होंगे।

डीपीएम सुश्री रंजना पैकरा ने बताया “शनिवार को शुरू हुये कोविड 19 टीकाकरण अभियान में उच्च जोखिम वाले समूहों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण के लिए चिन्हित किया गया है। इन्हें तीन समूहों में बांटा गया है- पहले समूह में हेल्थकेयर वर्कर, दूसरे समूह में फ्रंटलाइन वर्कर, तीसरे समूह में 50 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति तथा जो पहले से ही किसी रोग से ग्रसित है। कोविड 19 टीकाकरण अभियान के दिन जिले के तीनो सेशन साइटो में शाम 5 बजे तक लगभग 169 लोगो को टीका लगाया जा चुका है।“


जिन्हें टीके लगने हैं, उनके लिए अहम हैं यह 5 बातें
० मोबाइल पर आए एसएमएस को ध्यान से पढ़ें। इसमें लिखे निर्देशों के मुताबिक आपको इस एसएमएस को टीकाकरण केंद्र में दिखाना होगा, इसलिए डिलीट न करें।
० एसएमएस में टीकाकरण का समय दिया होगा। निर्धारित समय पर ही पहुंचे।
० अपने साथ पहचान पत्र रखें। जिसमें आपका नामए पता दर्ज उल्लेखित हो।
० टीकाकरण केंद्र में अपने साथ किसी अन्य व्यक्ति, दोस्त या परिजनों को न लाएं। अगर लाएं तो परिसर के बाहर ही रहने को कहें ताकि भीड़ न लगे। व्यवस्था में व्यवधान न हो।
० टीकाकरण में एक घंटे का वक्त लगेगा। इस दौरान किसी भी प्रकार की शारीरिक-मानसिक परेशानी होती है तत्काल केंद्र प्रभारी को सूचित करें।

अब हितग्राहियों को पीडीएस दुकानों के बाहर धूप/बारिश में नहीं खड़ा होना पड़ेगा

0


मंत्री अमरजीत भगत से एसडब्ल्यूसी के अध्यक्ष ने मुलाकात कर मॉडल पीडीएस दुकानों की स्थापना पर चर्चा की

रायपुर / आज छत्तीसगढ़ खाद्य-नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री अमरजीत भगत से दुर्ग ग्रामीण विधायक व स्टेट वेयरहाउस कॉर्पोरेशन निगम के अध्यक्ष अरुण वोरा ने मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान फूड टेस्टिंग लैब एवं 1500 मॉडल पीडीएस दुकानों के निर्माण के संबंध में चर्चा हुई। विशेषकर राज्य भंडारगृह निगम के अंतर्गत आने वाले भंडारगृहों की क्षमता को बढ़ाए जाने के संबंध में बातचीत की गई। साथ ही अरुण वोरा ने छत्तीसगढ़ के भंडारण गृह की क्षमता बढ़ने हेतु भी प्रस्ताव रखा, जिसके सन्दर्भ में विभागीय अधिकारियों से चर्चा कर जल्द ही निर्णय लिए जाने के लिए मंत्री श्री भगत ने उन्हें आश्वस्त किया।


उपरोक्त चर्चाओं के साथ-साथ नवा रायपुर में फूड टेस्टिंग लैब की स्थापना के विषय पर भी विस्तार से चर्चा हुई। मध्य भारत में शासकीय स्तर का पहला फूड टेस्टिंग लैब छत्तीसगढ़ के नवा रायपुर में स्थापित किया जाना है। नवा रायपुर विकास प्राधिकरण द्वारा फूड टेस्टिंग लैब के निर्माण हेतु नवा रायपुर में ज़मीन आवंटित की जा चुकी है, इसका निर्माण भी जल्द ही आरंभ हो जाएगा। अब से पहले तक खाद्यान्नों की गुणवत्ता की जांच हेतु हैदराबाद सैंपल भेजा जाता था। टेस्टिंग लैब की स्थापना से यह सुविधा नया रायपुर में उपलब्ध हो जाएगी। हाथ से बनी हुई मिठाइयों से ले कर पैकेज्ड आइटम तक की टेस्टिंग हेतु सुविधा नवा रायपुर में ही उपलब्ध होंगी।
मंत्री भगत व एसडब्ल्यूसी के अध्यक्ष अरुण वोरा के बीच छत्तीसगढ़ में जिलावार 1500 मॉडल PDS दुकानों के निर्माण पर भी चर्चा हुई। इसकी प्रक्रिया भी शीघ्र आरंभ हो जाएगी, इसका निर्माण तीन चरणों में प्रस्तावित है। पहले चरण में सभी नगरीय निकाय क्षेत्रों में मॉडल पीडीएस दुकानों का निर्माण किया जाएगा। इसके बाद ग्रामीण व सुदूर क्षेत्रों में क्रमशः मॉडल पीडीएस दुकानों की स्थापना की जाएगी। इस सम्बन्ध में बजट निर्धारण पर चर्चा हुई। पीडीएस दुकानों में विश्राम गृह न होने के कारण हितग्राहियों को परेशानी होती थी, विशेषकर गर्मियों और बारिश के समय हितग्राहियों को परेशानी होती थी। मॉडल पीएडीएस दुकानों में दुकानों में विश्राम गृह बनाए जाएंगे, जहाँ बैठकर हितग्राही अपना टोकन नंबर आने का इंतज़ार करेंगे। साथ ही यहाँ प्रसाधन की सुविधा भी उपलब्ध होगी। साथ ही अन्य राशन सामग्रियों की दुकान भी वहीं लगी हुई होगी, जिससे उचित दाम में उपभोक्ताओं के लिये सामान उपलब्ध होगा।
इस मुलाकात के दौरान दुर्ग महापौर धीरज बाकलीवाल एवं अन्य अधिकारीगण भी मौजूद थे।

error: Content is protected !!