Home कोरिया सेंट जोसेफ पर पूरी फीस मांगने का आरोप, भेजें स्क्रीनशॉट, तीसरी कक्षा...

सेंट जोसेफ पर पूरी फीस मांगने का आरोप, भेजें स्क्रीनशॉट, तीसरी कक्षा के बच्चे से मांगे 15 हजार 500

कोरिया / सरकार ने स्कूल खोलने पर रोक जरूर लगा दी है. ऐसे में स्कूल अब ऑनलाइन एजुकेशन देने के नाम पर पूरी फीस मांग रहे हैं. इसके लिए पैरेंट्स को मैसेज और विभिन्न तरीकों से परेशान किया जा रहा है.

ताजा मामला कोरिया जिला मुख्यालय के सेंट जोसेफ इंग्लिश मीडियम स्कूल का हैं. जहाँ तीसरी कक्षा के बच्चे के अभिवाहक से लगभग 15500 फीस दवाब पूर्ण मांगा जा रहा है.

एक अभिभावक ने newspage13.com को बताया कि ….अत्यंत खेद का विषय है कि सेंट जोसेफ इंग्लिश मीडियम स्कूल बैकुंठपुर, रामपुर के द्वारा कोरोना के इस संकट काल में भी सभी बच्चों से विद्यालय फीस पूरा-पूरा वसूल किया जा रहा है, जबकि छत्तीसगढ़ शासन तथा शिक्षा विभाग का निर्देश है कि फीस न लिया जाए अथवा फीस में छूट दिया जाए. उपरोक्त स्क्रीनशॉट इस बात का सबूत है की तीसरी कक्षा के बच्चे से भी लगभग ₹15500 (पन्द्रह हजार पाँच सौ रुपये) से अधिक फीस वसूला जा रहा है. कई पालक ऐसे हैं जिनका इस कोरोना काल के संकट में कोई आय का साधन नहीं है. बड़ी मुश्किल से वह अपने घर और परिवार के खर्चों को चला पा रहे हैं. जीवनयापन कर रहे है. वह किस प्रकार से इतनी महंगी फीस भर पाएंगे.

वैसे भी ऑनलाइन पढ़ाई नहीं हो पा रही है. बमुश्किल एक या दो विषय की पढ़ाई कभी-कभी विद्यालय के द्वारा कराया जा रहा है. वह भी कोरम पूरा करने और फीस जबरदस्ती वसूलने के लिए.

दूसरे अभिवाहक ने सोशल मीडिया के माध्यम से बताया कि 15/10/2020 को मुझे फ़ोन पर परीक्षा ( छमाही ) को लेकर दबाव बनाया गया, साथ ही मेरे बच्चे को यहां तक कहा गया कि, अब तुम्हे स्कूल आने की जरूरत नहीं. फीस को लेकर बार-बार इस तरह से बच्चे को एवं मुझे भयभीत किया गया …..कृपया इसका हल अवश्य किया जावे.
मेरा बच्चा वाट्सएप में नहीं पढ़ा है और ना ही पढ़ेगा, तो आनलाइन परीक्षा कैसे संभव है?
यह अन्याय है स्कूल द्वारा बच्चे को डराना, पालक को मानसिक व आर्थिक प्रताड़ित करना अपराध है.

आप को बता दे कि सरकार की ओर से स्कूलों को खोलने के संबंध में अभी कोई आदेश जारी नहीं किया गया है और कुछ दिन पहले ऐसी खबर मिली कि छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल वाली सरकार ने राज्य के प्राइवेट स्कूलों के खिलाफ सख्ती बढ़ा दी है. अब प्राइवेट स्कूल अभिभावकों से लॉकडाउन पीरियड की फीस नहीं वसूल पाएंगे. भूपेश सरकार ने छत्तीसगढ़ में संचालित सभी निजी स्कूलों को लॉकडाउन अवधि में विद्यार्थियों के अभिभावकों पर फीस वसूलने के लिए अनावश्यक दबाव नहीं बनाने का निर्देश दिया है. इसके लिए राज्य सरकार की ओर से जारी नए दिशा-निर्देशों के मुताबिक निजी स्कूलों को प्रमाण पत्र देना होगा कि उन्होंने अभिभावकों से लॉकडाउन अवधि की फीस नहीं मांगी है. छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निजी स्कूलों से लॉकडाउन अवधि में छात्रों के अभिभावकों से फीस नहीं वसूलने संबंधी प्रमाण पत्र लेने के निर्देश भी दिए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

VIDEO – रमदईया धाम में जवारा विसर्जन की धूम, देवी मां को खुश करने सैकड़ों भक्तों ने मुंह में छिदवाया बाना

00 भक्त मुंह में बाना छिदवाकर झूमते व झुपते दिखे00 भजन व भोग-भंडारे से भक्तिमय रहा माहौल

कोरिया के इस पंडाल में माता की मूर्ति नही, तस्वीर पर पूजा अर्चना कर मनाया गया नवरात्रि त्योहार

कोरिया / दुर्गा पूजा या नवरात्रि, हिंदू समुदाय के लोगों द्वारा मनाए जाने वाले सबसे महत्वपूर्ण हिंदू त्योहारों...

स्व अजीत जोगी के अपमान से व्यथित रेणु जोगी ने कांग्रेस नेताओं पर साधा निशाना, बोलीं निर्वाचन अधिकारी से करेंगी शिकायत

00 स्तरहीन बयानबाज़ी करना बंद करें कांग्रेस अध्यक्ष - रेणु जोगी 00 कांग्रेस अध्यक्ष ने सिर्फ स्व. अजीत जोगी...

IPL किक्रेट सटोरियो के विरुद्ध पुलिस की बडी कार्यवाही,भाटिया सहित चार गिरफ्तार

राजनांदगांव / डोंगरगढ़ व नागपुर ( महाराष्ट्र ) के है आरोपीगण आज को जुर्म जरायम पतासाजी के दौरान सूचना मिली कि अटल...

अजीब दादागिरी, कोरिया में ठेकेदार तय कर रहे हैं रेत के दाम, नीलामी के बाद से परिवहनकर्ता परेशान

00 मेरी दुकान चाहे जितनी में बेचू समान - ठेकेदार00 बिहार राज चलेगा जो करना है कर लो - ठेकेदार00 पीट पास...
error: Content is protected !!