Home अजब गजब कौन है वो ममी जो 3000 साल बाद बोल उठी, क्या है...

कौन है वो ममी जो 3000 साल बाद बोल उठी, क्या है 3000 साल बाद बोलने वाली ममी का राज ? जानकर रह जाएंगे दंग…

नई दिल्ली / पिरामिडों के रहस्य पर बनी हॉलीवुड की कई फिल्मों में ममी अपने ताबूत से बाहर आ जाती हैं. वो बोलने लगती हैं. उनकी आवाज दिल दहला देती है लेकिन अब फिल्मी ममी ही नहीं असली ममी भी बोलने लगी है. मिस्र की 3000 साल पुरानी एक ममी को दोबारा बोलते हुए सुना गया. ठीक वैसे ही जैसे 3000 साल पहले वो बोला करती थी.

3000 साल बाद बोलने लगी मिस्र की ममी, मामला जानकर रह जाएंगे दंग

क्या है 3000 साल बाद बोलने वाली ममी का राज?

हजारों साल के दौरान नेस्यामूं की ममी की जीभ और तालू पूरी तरह से सड़ गए. हालांकि उसके कंठ में मौजूद स्वर-तंत्र के उत्तक अभी भी सुरक्षित थे. ये पता चलने पर वैज्ञानिकों ने नेस्यामूं को दोबारा आवाज देने का फैसला किया. वैज्ञानिक रिपोर्ट्स के मुताबिक ब्रिटेन की एक प्रयोगशाला में वैज्ञानिकों ने 3-डी प्रिटिंग की तकनीक, कंप्यूटर और लाउडस्पीकर की मदद से 3000 साल पहले मर चुके पुजारी नेस्यामूं की आवाज को दोबारा सुनने में कामयाबी पाई.

इसके लिए सीटी स्कैन और 3-डी तकनीक की मदद से ममी के स्वर-तंत्र का मॉडल तैयार किया गया. इस 3-डी मॉडल को एक लाउडस्पीकर से जोड़ दिया गया. इस मॉडल से एक वैज्ञानिक उपकरण की मदद से ध्वनि तरंगों को गुजारा गया. ममी के स्वर-तंत्र के मॉडल से जब वो ध्वनि तरंग गुजरी तो उससे इंसान के बोलने जैसी एक आवाज निकली.

कैसी थी 3000 साल बाद बोलने वाली ममी की आवाज?
वैज्ञानिकों का अनुमान है कि 3 डी-मॉडल से वैसी ही आवाज पैदा हुई जैसे 3000 साल पहले उस ममी के स्वामी पुजारी नेस्यामूं की थी. हालांकि ये आवाज बहुत साफ नहीं थी. 3-डी मॉडल से निकली आवाज ‘ईईई….’ की थी. नेस्यामूं की ममी के स्वर-तंत्र के मॉडल ने सिर्फ ‘ईईई….’ की आवाज निकाली. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि नेस्यामूं की ममी में जीभ गायब थी. अगर जीभ भी होती तो वैज्ञानिक 3-डी मॉडल में उसकी भी नकल तैयार कर लेते. तब जो आवाज निकलती वो हूबहू वैसी ही होती जैसी 3000 साल पहले उस ममी के स्वामी नेस्यामूं की थी. फिर भी वैज्ञानिक ममी की आवाज की इस नकल को एक बड़ी सफलता मान रहे हैं. zeenews.com

Must Read

सरगुजा प्रेस क्लब के चुनाव सम्पन्न, त्रिलोक कपूर अध्यक्ष देश दीपक गुप्ता उपाध्यक्ष, महासचिव अमर विजय निर्वाचित

अम्बिकापुर / सरगुजा प्रेस क्लब के चुनाव सम्पन्न हुआ। चुनाव में निर्वाचन प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद अध्यक्ष पद के लिए त्रिलोक...

छत्तीसगढ़ मनरेगा जॉबकॉर्डधारी परिवारों को 100 दिनों का रोजगार देने में देश में शीर्ष पर : लक्ष्य के विरूद्ध रोजगार सृजन में देश में...

00 अब तक 55981 परिवारों को 100 दिनों का रोजगार, देश में 100 दिनों का रोजगार हासिल करने वाले कुल परिवारों...

महापौर कक्ष में लगे पूर्व महापौरों के हटाये गए फोटों को सम्मान के साथ पूर्ववत निर्धारित स्थान पर लगायें – डोमरु रेड्डी

00 पूर्व महापौरों की तस्वीरों के अपमान से आहत पूर्व महापौर ने बेहद तल्ख लहजे में वर्तमान महापौर व आयुक्त को पत्र...

मुख्यमंत्री निवास के सामने आत्मदाह मामले की न्यायिक जांच हो: अमित जोगी

न्याय केवल होना ही पर्याप्त नहीं बल्कि न्याय होता हुआ दिखना भी चाहिएशासन के अधीनस्त अधिकारी से निष्पक्ष जांच की उम्मीद नहीं
error: Content is protected !!