छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी संघ के द्वारा मुख्यमंत्री के नाम कोरिया कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

0
311

कोरिया / छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फडरेशन के द्वारा अपनी मांगों को लेकर कोरिया कलेक्ट्रेट पहुंचे, जहां इन्होंने अपनी मांगों को लेकर मुख्यमंत्री के नाम कोरिया कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन सौंपते हुए अवगत कराया कि छत्तीसगढ़ अधिकारी कर्मचारी फडरेशन के द्वारा अपनी मांगों को लेकर राज्य शासन को समय-समय पर ज्ञापन के माध्यम से अनुरोध किया था उन्होंने खेद जाहिर करते हुए कहा कि उनके मांगों पर निराकरण की कार्यवाही नहीं होने के कारण कर्मचारी अधिकारी में काफी आक्रोशित है। कहां की आश्वासन के बावजूद मांगों पर विचार नहीं होने से कर्मचारी जगत व्यथित है क्योंकि दीपावली पूर्व की उम्मीद कर्मचारी अधिकारी कर रहा थे। जिसको लेकर 21 नवंबर 2020 को छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फाउंडेशन आयोजित हुए बैठक में शासन के अपेक्षा पूर्व रवैया के लोकतांत्रिक विरोध एवं मांगों के निराकरण हेतु शासन का ध्यान आकर्षित करने के लिए चरणबद्ध आंदोलन करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने अपने मुख्य मांगों में लिपिक सर्वग के वेतन विसंगति के निराकरण के साथ ही शिक्षक एवं स्वास्थ्य सर्वग सहित अन्य कर्मचारी संवर्ग का वेतन विसंगति निराकृत की जाए प्रदेश के कर्मचारियों एवं पेंशनरों को जुलाई 19 का 5% एवं जनवरी 20 का 4% कुल 9% महंगाई भत्ता स्वीकृति आदेश जारी की जाए। छत्तीसगढ़ वेतन पुनरीक्षण नियम 2017 का बकाया एरियर चार किस्तों के भुगतान हेतु आदेश जारी की जाए। सभी विभागों में लंबित सवर्गीय पदोन्नति/क्रमोन्नति समय मान एवं तृतीय समान वेतनमान का लाभ समय सीमा में प्रदान की जाए। सहायक पशु चिकित्सा अधिकारी एवं सहायक शिक्षक पद पर नियुक्त शिक्षकों को उचित समय मान वेतनमान स्वीकृति आदेश जारी की जाए। अपनी मांगों को रखते हुए उन्होंने कहा कि अगर हमारी मांग पूरी नहीं की जाती है तो हमारी उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे।