Home कोरिया जब विधायक विनय ने भरे मंच से मनेंद्रगढ़-चिरमिरी को जिला बनाने की...

जब विधायक विनय ने भरे मंच से मनेंद्रगढ़-चिरमिरी को जिला बनाने की रखी मांग…CM ने कहा सब्र रखिए…

कोरिया चिरमिरी / मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कोरिया जिले के चिरमिरी प्रवास पर मनेंद्रगढ़ विधायक डॉ. विनय जायसवाल ने खुले मंच में हजारों भीड़ की उपस्थिति में मुख्यमंत्री से मनेंद्रगढ़- चिरमिरी को मिला कर संयुक्त जिला बनाए जाने की मांग कर दी।उन्होंने चिरमिरी में 40 करोड़ की लागत से एक एडवेंचर पार्क व सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल की भी मांग रखी।

यह पहला अवसर था जब किसी भी राजनैतिक दल के विधायक ने जनभावनाओं के अनुरूप मनेंद्रगढ़-चिरमिरी को जिला बनाने की मांग खुले मंच से सीएम के सामने रखी।

जिससे जनमानस में डॉ. विनय की छबि असली माटीपुत्र की बन गयी। विधायक डॉ. विनय जायसवाल की मांग पर 40 करोड़ की योजना का एडवेंचर पार्क का मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की घोषणा। एडवेंचर पार्क चिरमिरी के हिरागिर ग्राउंड में प्रदेश की पहला एडवेंचर पार्क होगा जिसमें हज़ारो सैलानी यहाँ आएंगे, जिससे लोगो को व्यापार व रोजगार प्राप्त होगा। इसके साथ ही चिरमिरी मनेंद्रगढ़ को संयुक्त जिला बनाने को लेकर विधायक की मांग पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सब्र करो सब्र का फ़ल मीठा होता है, जल्द ही चिरमिरी मनेंद्रगढ़ को संयुक्त जिला मिलेगा।

Must Read

सरगुजा प्रेस क्लब के चुनाव सम्पन्न, त्रिलोक कपूर अध्यक्ष देश दीपक गुप्ता उपाध्यक्ष, महासचिव अमर विजय निर्वाचित

अम्बिकापुर / सरगुजा प्रेस क्लब के चुनाव सम्पन्न हुआ। चुनाव में निर्वाचन प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद अध्यक्ष पद के लिए त्रिलोक...

छत्तीसगढ़ मनरेगा जॉबकॉर्डधारी परिवारों को 100 दिनों का रोजगार देने में देश में शीर्ष पर : लक्ष्य के विरूद्ध रोजगार सृजन में देश में...

00 अब तक 55981 परिवारों को 100 दिनों का रोजगार, देश में 100 दिनों का रोजगार हासिल करने वाले कुल परिवारों...

महापौर कक्ष में लगे पूर्व महापौरों के हटाये गए फोटों को सम्मान के साथ पूर्ववत निर्धारित स्थान पर लगायें – डोमरु रेड्डी

00 पूर्व महापौरों की तस्वीरों के अपमान से आहत पूर्व महापौर ने बेहद तल्ख लहजे में वर्तमान महापौर व आयुक्त को पत्र...

मुख्यमंत्री निवास के सामने आत्मदाह मामले की न्यायिक जांच हो: अमित जोगी

न्याय केवल होना ही पर्याप्त नहीं बल्कि न्याय होता हुआ दिखना भी चाहिएशासन के अधीनस्त अधिकारी से निष्पक्ष जांच की उम्मीद नहीं
error: Content is protected !!