पाकिस्‍तान को अमेरिका ने दिया ‘बड़ा झटका’, एफ-16 विमानों को भारत में भेजे जाने पर उससे जवाब तलब किया

नई दिल्‍ली / पाकिस्‍तान की तरफ से बीते बुधवार को वायुसीमा का उल्‍लंघन कर भारत में लड़ाकू विमान F-16 भेजे जाने पर उसके अमेरिका से बड़ा झटका मिला है. अमेरिका ने पाकिस्‍तान द्वारा एफ-16 विमानों को भारत में भेजे जाने पर उससे जवाब तलब कर लिया है.

दरअसल, नियमों के तहत, पाकिस्‍तान ने एफ-16 विमानों का दुरुपयोग किया है, क्‍योंकि अमेरिका से उसे यह विमान सिर्फ आतंकवाद के खिलाफ इस्‍तेमाल करने के लिए दिए गए हैं. वह किसी देश के खिलाफ इनका इस्‍तेमाल नहीं कर सकता. लिहाजा, अमेरिका ने इसे शर्तों का उल्‍लंघन माना है. 

बता दें कि पाकिस्तान इस बात से इनकार कर रहा है कि उसने भारत के सैन्‍य ठिकानों को निशाना बनाने में अपने एफ-16 लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल नहीं किया. दरअसल, इसके पीछे बड़ी वजह है. वो यह कि पाकिस्तान को अमेरिका से 1980 के दशक में एफ-16 विमान मिले थे. अमेरिका ने अपने चौथी पीढ़ी के इन उन्नत एवं अत्याधुनिक एफ-16 विमानों को पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के लिए दिया था.

अमेरिकी शर्तों के अनुसार, पाकिस्‍तान इन लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल किसी देश पर हमले के लिए नहीं कर सकता. इस वजह से वह इस बात को नहीं कबूल रहा कि उसने भारतीय वायुसीमा में एफ-16 को नहीं भेजा, क्‍योंकि यह उसके लिए मुश्किल खड़ी कर सकता है. हालांकि भारत ने यह साफ कहा है कि पाकिस्‍तान की तरफ से भेजे गए विमानों में से एक एफ-16 विमान को उसने मार गिराया है.

उल्‍लेखनीय है कि भारत और पाकिस्तान में तनाव बढ़ने के बीच भारतीय वायु सीमा में घुसे पाकिस्तानी विमानों पर कार्रवाई करते हुए वायुसेना ने एक पाकिस्तानी युद्धक विमान को मार गिराया गया था. अधिकारियों ने कहा था कि जम्मू के राजौरी सेक्टर में भारतीय हवाई सुरक्षा बलों ने पाकिस्तानी वायुसेना के एफ-16 युद्धक विमान को मार गिराया.

Share this news
  • 10
  •  
  •  
  •