भाजपा का धरना, प्रदर्शन राजनैतिक नौटंकी – कांग्रेस

0
122

भाजपा के धरने से किसानों ने बनाई दूरी, अनेकों ब्लाक में दर्जन भर भी भाजपाई नहीं जुटे
रायपुर/ प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा के धरने को किसानों का समर्थन नहीं मिला। भारतीय जनता पार्टी के द्वारा आयोजित धरना से किसानों ने अपने आपको अलग रखा एक भी किसान और किसान संगठन ने भाजपा के धरने को समर्थन नहीं दिया। जो भाजपा तीन काले कानून बना कर देश के किसानों के खिलाफ षड़यंत्र रची है। उस भाजपा के छत्तीसगढ़ इकाई के लोग किसानों के समर्थन में आंदोलन की नौटंकी कर रहे है। भाजपा का प्रदर्शन फ्लाप साबित हुआ, अनेकों ब्लाक में दर्जन भर भी भाजपाई नहीं जुटे। भाजपा नेताओं को वास्तव में किसानों की चिंता है तो वह केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ आंदोलन करें जो छत्तीसगढ़ के धान उत्पादक किसानों को 2500 रू. धान की कीमत देने में अडंगेबाजी लगाती है। मोदी सरकार छत्तीसगढ़ के चावल में कटौती करती है। मोदी सरकार ने किसान सम्मान निधि से छत्तीसगढ़ के 25 लाख किसानों को वंचित रखा। भाजपा के किसी नेता ने छत्तीसगढ़ के किसानों के हित में केन्द्र से प्रधानमंत्री मोदी से बात करने की हिम्मत नहीं जुटाई।
प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि राज्य में अब तक 70 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी हो चुकी है। प्रदेश में अब तक लगभग 17 लाख किसानों का धान सरकार खरीदी कर चुकी है। जब धान खरीदी का लक्ष्य 80 फीसदी पूरा हो गया तब भाजपा को किसानों की सुध आ रही है। भारतीय जनता पार्टी के नेता जवाब दें कि केन्द्र के द्वारा छत्तीसगढ़ के सेन्ट्रल पूल के चावल में कटौती कर 60 लाख मीट्रिक टन से घटा कर 24 लाख मीट्रिक टन किये जाने पर क्यों मौन है? जूट कमिश्नर ने छत्तीसगढ़ सरकार की मांग के अनुसार 3.5 लाख गठान बारदाने देने की सहमति नहीं दी, इस बारे में भाजपा नेताओं ने कब केन्द्र को पत्र लिखा? छत्तीसगढ़ के किसानों को धान की कीमत 2500 देने की छूट के लिये मोदी सरकार को भाजपा के किस नेता ने पत्र लिखा? जनता सांसदों का चुनाव तो इसीलिये करती है कि सांसद उनके हक की आवाज केन्द्र में उठायेंगे भाजपा के 9 सांसदों ने छत्तीसगढ़ के किसानों के हक की आवाज कब-कब केन्द्र के समक्ष उठाया है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here