Home रायपुर उच्च शिक्षा की चुनौती के लिए प्राध्यापक तैयार रहें- गृह मंत्री

उच्च शिक्षा की चुनौती के लिए प्राध्यापक तैयार रहें- गृह मंत्री

00 हेमचंद यादव विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित 10 दिवसीय ऑनलाईन फैकल्टी डेवलेपमेंट प्रोग्राम का समापन

रायपुर / गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा है कि उच्च शिक्षा में आने वाली चुनौतियों के लिए प्राध्यापक खुद को तैयार करें और विद्यार्थियों को गुणवत्ता युक्त शिक्षा दें। श्री साहू आज अपने रायपुर निवास कार्यालय से हेमचंद यादव विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित ऑनलाईन फैकल्टी डेवलेपमेंट कार्यक्रम के समापन अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रंेसिंग के माध्यम से शामिल हुए। उन्होंने कहा कि दुर्ग विश्वविद्यालय द्वारा कोविड-19 के दौरान लॉकडाउन अवधि में अनेक रचनात्मक ऑनलाईन गतिविधियां आयोजित की गई हैं। यह प्रसन्नता का विषय है। 10 दिवसों के दौरान जहां 400 से अधिक प्राध्यापकों को ऑनलाईन शिक्षण के नवीनतम तरीकों से अवगत कराया गया वही रिसर्च प्रोजेक्ट एवं फेलोशिप कैसे हासिल करें इस बात की भी जानकारी प्रदान की गई। उन्होंने हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग और शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुर्ग द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित 10 दिवसीय ऑनलाईन फैकल्टी डेवलेपमेंट प्रोग्राम की सराहना की। उन्होंने सभी प्रतिभागी प्राध्यापकों को टेस्ट परीक्षा में सफलता के लिए शुभकामना दी। 

    गृह मंत्री श्री साहू ने कहा कि उच्च शिक्षा में आने वाले परिवर्तनों के लिए स्वयं को तथा विद्यार्थियों को तैयार करना होगा। पुरानी तथा नये पीढ़ी के प्राध्यापकों दोनोें के लिये यह चुनौती का अवसर है। हमें चुनौतियों को स्वीकार करते हुए उसे उपलब्धियों में बदलना होगा। उन्होंने दुर्ग विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ. अरूणा पल्टा, कुलसचिव डॉ. सी. एल. देवांगन तथा साइंस कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आर. एन. सिंह को इस सफल आयोजन के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी प्राध्यापकों और विद्यार्थियों के लिए इसी तरह के रचनात्मक गतिविधियां आयोजित करते रहें। 
    

दुर्ग विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ. अरूणा पल्टा ने बताया कि कार्यक्रम में दुर्ग विश्वविद्यालय परिक्षेत्र के अंतर्गत आने वाले लगभग 400 से अधिक प्राध्यापकों ने हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 कारण परंपरागत चाक और डस्टर वाली कक्षाओं के संचालन में कठिनाई आ रही है। कोरोनो संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए शैक्षणिक संस्थाएंे बंद है। ऐसी स्थिति में विद्यार्थियों के हित में ऑनलाईन शिक्षण व्यवस्था को बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल के नेतृत्व में महाविद्यालय के प्राध्यापकों ने सी. जी. स्कूल डॉट इन पोर्टल पर हजारो वीडियो, ऑडियो लेक्चर्स तैयार कर अपलोड किये है। इन्हें विद्यार्थी कभी भी, कही भी देख सकते हैं। प्राध्यापकों ने दुर्ग विश्वविद्यालय की वेबसाईट पर लगभग 1500 से ज्यादा वीडियो लेक्चर बनाकर अपलोड किये हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

कोयले के अवैध उत्खनन व बरतुंगा लोडिंग प्वाइंट में हो रही संगठित अवैध वसूली पर लगाम लगे – डोमरु रेड्डी

पूर्व महापौर ने स्थानीय पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगते हुए, शासन की हो रहे छवि खराब को लेकर आईजी सरगुजा...

रविवार से CAIT देश भर में शुरू करेगा चीन भारत छोड़ो अभियान,600 शहरों में सामाजिक दूरी एवं सुरक्षा के सभी नियम का पालन करते...

रायपुर / कन्फेडरेशन ऑफ आल इंड़िया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, प्रदेश...

निजी क्लिनिक, नर्सिंग होम एवं अस्पतालों में इलाज करवाने वाले कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों की कराएं कोरोना जांच

स्वास्थ्य विभाग ने आईएमए को लिखा पत्र कोरोना संक्रमित पाए जाने वाले पर अस्पताल को...

बड़ी खबर – जिला अस्पताल का डॉक्टर निकाला कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

कोरिया / जिला अस्पताल का डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव निकाला। बताया जा रहा है कि डॉक्टर दूसरे राज्य से...

VIDEO – राम मंदिर भूमिपूजन के अवसर पर दीपों से जगमगाया कोरिया, MLA गुलाब कमरों व डॉ विनय ने डांस कर जाहिर की खुशी,...

00 जय श्री राम के जयकारों से गुंजा कोरिया00 चारों तरफ दिवाली जैसे महोत्सव00 जमकर हुई आतिशबाजी कोरिया /...
error: Content is protected !!