Home रायपुर कैट ने कल्पतरू बिहरा महिला समूह से 3000 राखी बनवा कोरोना संक्रमितों...

कैट ने कल्पतरू बिहरा महिला समूह से 3000 राखी बनवा कोरोना संक्रमितों को जिला प्रशासन की मदद से बांटी,चीन को सबक सिखाने भारतीय राखी के आह्वान ने पकड़ा ज़ोर

रायपुर / कन्फेडरेशन ऑफ आल इंड़िया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मगेलाल मालू, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, प्रदेश महामंत्री जितेन्द्र दोशी, प्रदेश कार्यकारी महामंत्री परमानंद जैन, प्रदेश कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल एवं प्रदेश प्रवक्ता राजकुमार राठी ने बताया कि आज कन्फेडरेशन ऑफ आल इंड़िया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी नेतृत्व में कैट के राष्ट्रीय अभियान ‘‘भारतीय सामान -हमारा अभिमान‘‘ के तहत कैट सी.जी. चैप्टर ने कल्पतरू बिहरा महिला समूह से 3000 राखी बनवाकर जिला प्रशासन रायपुर के अधिकारी गौरव कुमार सिंह (आई ए. एस.) सी.ई.ओ. जिला पंचायत रायपुर के माध्यम से कोरोना मरीजों को राखी बांटी ।

कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी ने बताया कि कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्ज (कैट) ने देशभर में चलाए जा रहे अपने चीनी वस्तुओं के बहिष्कार अभियान के अंतर्गत इस वर्ष राखी त्यौहार को भारतीय राखी के रूप में मनाये जाने का आव्हान किया है जिसके तहत देश भर में कैट सी.जी. चैप्टर ने महिला उद्यमियों एवं महिला समुह के सहयोग लोकल समान का उपयोग करते हुए राखियाँ बनवाई हैं।

कैट इस बार चीनी राखी का विरोध करते हुए इस बार एक नोखे तरीके से राखी मानने की सोची है जिसमें लोकल महिला समूल कल्पतरू बिहरा से 3000 राखी बनवाकर कोरोना संक्रमित मरीजों तक जिला प्रशासन रायपुर की मदद से पहुचाया गया जिसके लिए कैट जिला प्रशासन रायपुर का आभार व्यक्त करता है।

कैट ने उन्हें स्वास्थ्य लाभ, स्वस्थ्य और सुरक्षित जीवन की शुभकामनाओं के साथ चिकित्सकों, स्वास्थ्य कर्मियों एवं प्रशासनिक व्यवस्था में लगे सभी कर्मियो का सहयोग करने, उनके द्वारा बताये गये निर्देशों का पालन करने। तथा कोरोना से स्वस्थ्य होने के बाद भी निरंतर सावधानी बरतनें और अपने एवं परिवार का ध्यान रखने को कहा है। श्री पारवानी ने आगे बताया कि कैट के राष्ट्रीय अभियान ‘‘भारतीय सामान -हमारा अभिमान‘‘ को प्रदेश सरकार के कुटीर उघोग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से महिला समूहो द्वारा राखी बनाने के लिए प्रेरित किया। कैट के इस अभियान से प्रदेशभर में व्यापारियों के द्वारा लोकल सामान को ही बेचा जाने को प्राथमिकता और मजबूती मिली। बाजारों में इस बार चीनी राखी की बजाय लोकल सामान से बनी राखी की बड़ी मांग है । कैट के आव्हान के कारण इस बार राखी के त्यौहार पर चीन को 4 हजार करोड़ रुपये की राखी के कारोबार का बड़ा झटका लगा तथा जहां हर साल प्रदेश में लगभग 60 से 70 करोड़ की राखी चीन से आयात की जाती थी, प्रदेश में इस बार इसका पूरा विरोध किया गया, और चीन से कोई राखी नहीं मंगाई गई। चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के अपने बड़े अभियान के तहत कन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) द्वारा प्रदेश भर में इस बार राखी के पर्व को भारतीय राखी के रूप में मनाने के इस अभियान को बड़ी सफलता मिली ।

कैट सी.जी. चैप्टर के प्रतिनिधी मंडल में मुख्य रूप से राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं कार्यक्रम संयोजक राम मंधान,वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं कार्यक्रम सह-संयोजक भरत जैन, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह, उपाध्यक्ष निलेश मुंदड़ा,वरिष्ठ सदस्य महेश जेठानी,जयंत मोहता उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

कोयले के अवैध उत्खनन व बरतुंगा लोडिंग प्वाइंट में हो रही संगठित अवैध वसूली पर लगाम लगे – डोमरु रेड्डी

पूर्व महापौर ने स्थानीय पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगते हुए, शासन की हो रहे छवि खराब को लेकर आईजी सरगुजा...

रविवार से CAIT देश भर में शुरू करेगा चीन भारत छोड़ो अभियान,600 शहरों में सामाजिक दूरी एवं सुरक्षा के सभी नियम का पालन करते...

रायपुर / कन्फेडरेशन ऑफ आल इंड़िया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, प्रदेश...

निजी क्लिनिक, नर्सिंग होम एवं अस्पतालों में इलाज करवाने वाले कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों की कराएं कोरोना जांच

स्वास्थ्य विभाग ने आईएमए को लिखा पत्र कोरोना संक्रमित पाए जाने वाले पर अस्पताल को...

बड़ी खबर – जिला अस्पताल का डॉक्टर निकाला कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

कोरिया / जिला अस्पताल का डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव निकाला। बताया जा रहा है कि डॉक्टर दूसरे राज्य से...

VIDEO – राम मंदिर भूमिपूजन के अवसर पर दीपों से जगमगाया कोरिया, MLA गुलाब कमरों व डॉ विनय ने डांस कर जाहिर की खुशी,...

00 जय श्री राम के जयकारों से गुंजा कोरिया00 चारों तरफ दिवाली जैसे महोत्सव00 जमकर हुई आतिशबाजी कोरिया /...
error: Content is protected !!