छत्तीसगढ़ में पूर्ण शराबबंदी को लेकर तीन समिति गठित, समिति में कांग्रेस के 8, बीजेपी के 2, बीएसपी के 1 और जनता कांग्रेस के 1 सदस्य शामिल

रायपुर / छत्तीसगढ़ में पूर्ण शराबबंदी को लेकर राज्य सरकार ने तीन सामाजिक और राजनीतिक समितियों का गठन किया है। रायपुर ग्रामीण क्षेत्र विधायक सत्यनारायण शर्मा की अध्यक्षता में अनुशंसा समिति का गठन किया है।

बता दें कि छत्तीसगढ़ में पूर्ण शराबबंदी लागू करने कांग्रेस सरकार ने समिति बना दी है। सामाजिक संगठन के प्रतिनिधियों की समिति का गठन सरकार ने किया है। समिति राज्य में पूर्ण शराबबंदी के लिए अनुशंसा करेगी। इस समिति में अलग-अलग समाज के अध्यक्षों को शामिल किया गया है। समिति शराबबंदी वाले राज्यों का अध्ययन करेगी। समिति राज्य के आर्थिक, सामाजिक और व्यावहारिक परिवर्तनों का अध्ययन करेगी। इस समिति में सदस्य के रूप में नई दिल्ली के सेवानिवृत्त संचालक डॉ. जेपी मिश्रा और आबकारी विभाग के संयुक्त सचिव चंद्रकांत उइके को सदस्य सचिव बनाए गए है।

विधायकों की इस समिति में कांग्रेस के आठ, बीजेपी के दो, बीएसपी के 1 और जनता कांग्रेस के 1 सदस्य शामिल हैं। वहीं आबकारी विभाग के सचिव की अध्यक्षता वाली एक और समिति शराबबंदी वाले राज्यों में जाकर वहां के आर्थिक, सामाजिक और व्यावहारिक बदलाव का अध्ययन करेगी।

समिति में अलग- अलग सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि भी शामिल किये गये हैं। जिसमें साहू समाज, कुर्मी समाज, सर्व कुर्मी समाज, ब्राह्मण समाज, यादव समाज, सतनामी समाज, आदिवासी समाज, सर्व आदिवासी समाज समेत कई संगठन शामिल हैं। इस समिति में सदस्य के रूप में विषय विशेषज्ञ पीके शुक्ला, जशपुर के बब्रुवाहन, पदमश्री शमशाद बेगम और आबकारी विभाग के संयुक्त सचिव चंद्रकांत उइके को सदस्य होंगे।

Share this news
  • 19
  •  
  •  
  •