Home रायपुर भाजपा प्रदेश के नए अध्यक्ष बने विष्णु देव साय

भाजपा प्रदेश के नए अध्यक्ष बने विष्णु देव साय

रायपुर / प्रदेश भाजपा की कमान किसके हवाले की जाए, इस पर काफी समय से विचार-विमर्श का दौर जारी रहा। ख़ैर अब विष्णुदेव को प्रदेश भाजपा की कमान मिल गई है। पूर्व

केंद्रीय मंत्री विष्णुदेव साय को छत्तीसगढ़ भाजपा का अध्यक्ष बनाया गया है। विधानसभा चुनाव के बाद लंबे समय से छत्तीसगढ़ में भाजपा अध्यक्ष बदले जाने की बात चली रही थी। जिस पर भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने आज फैसला ले लिया। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी किसी आदिवासी नेता को भी सौंपे जाने की संभावनाएं शुरू से ज्यादा थीं।

बता दें कि पूर्व सांसद साय को केंद्रीय संगठन और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का करीबी माना जाता है। उनकी नियुक्ति अगले विधानसभा चुनावों तक के लिए होगी। साय पहले भी प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। यह उनका तीसरा कार्यकाल होगा। इससे पहले 2006 से 2009 और फिर 2013 तक पार्टी की कमान उनके हाथ में रही। 1999 से 2014 तक रायगढ़ से सांसद रहे। मोदी-1.0 में केंद्र में मंत्री बनाए जाने के बाद उन्होंने संगठन पद से इस्तीफा दे दिया था। साय को संगठन के साथ ही आरएसएस का भी करीबी माना जाता है।

खास बात यह है कि प्रदेश में भाजपा का अध्यक्ष आमतौर पर आदिवासी जननेता को ही चुना जाता है। एकमात्र धरमलाल कौशिक और पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह को छोड़कर शेष सभी अध्यक्ष आदिवासी नेता ही रहे हैं। वर्तमान अध्यक्ष विक्रम उसेंडी भी आदिवासी वर्ग से ही हैं, लेकिन बीते एक साल के भीतर खास उपलब्धि नजर नहीं आने की वजह से इस फेरबदल को ज्यादा महत्व दिया गया है। दूसरी बड़ी बात यह है कि इस वक्त सत्तासीन कांग्रेस ने संगठन की कमान आदिवासी नेता के हाथों में सौंप रखी है, लिहाजा इस बात का भी ख्याल रखा गया है।

विष्णुदेव साय ने जशपुर जिले के कांसाबेल तहसील के एक छोटे से गांव बगिया में एक किसान परिवार से निकल कर केन्द्रीय मंत्री तक का सफर तय किया है। उन्होनें रायगढ़ लोकसभा में 20 साल तक एकछत्र राज किया। कांग्रेस के वरिष्ठ व दिग्गज कहे जाने वाले नेता भी इस अपराजेय सांसद को रायगढ़ लोकसभा क्षेत्र से बाहर नहीं निकाल सके। पिछले लोकसभा चुनाव में जब प्रदेश के निवर्तमान सांसदों के टिकट काटे जाने को लेकर चर्चाएं शुरू हुईं तो सबसे पहले विष्णु देव साय ने अपना नाम रखा और चुनाव न लड़ने की सहमति जताई थी। उनके इस कदम का केंद्रीय नेतृत्व पर सार्थक प्रभाव पड़ा था। इससे पहले पिछले लोकसभा चुनाव के समय तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने धरमलाल कौशिक को हटाकर विक्रम उसेंडी को अध्यक्ष बनाया था।

Must Read

बड़ा आरोप – विधानसभा चुनाव में भाजपा की हार का बदला मोदी सरकार छत्तीसगढ़ की जनता और मजदूरों से ले रही है

00 गरीब कल्याण योजना को मध्यप्रदेश, झारखंड जैसे छत्तीसगढ़ के पड़ोसी राज्यों में लागू करना और छत्तीसगढ़ को छोड़ना सौतेला व्यवहार00 छत्तीसगढ़...

फरार ठेकेदार वरुण जैन गिरफ्तार, नक्सलियों के सहयोग का आरोप

राजनांदगांव / नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में काम करने के लिए ठेकेदारों द्वारा नक्सलियों को सहयोग करने का मामला कुछ माह पहले सामने...

ATM मशीन काटकर चोरी का प्रयास करते हुये 02 अंतर्राज्यीय आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

मंदिर हसौद / ATM मशीन काटकर चोरी का प्रयास करते हुये 02 अंतर्राज्यीय आरोपी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मंदिर हसौद...

कोरोना का डर दिखाकर 7 वर्षीय नाबालिग से किया दुष्कर्म, गांव के ही दो नाबालिग लड़को ने दिया वारदात को अंजाम

00 पुलिस ने दोनो आरोपी को किया गिरफ्तारमरवाही / आपको बता दे मामला मरवाही थाना क्षेत्र का है जिसमें दोनों नाबालिक...

11 लाख 70 हजार के गांजा के साथ 2 आरोपी गिरफ्तार

महासमुंद / लॉक डाउन खुलते ही महासमुंद पुलिस सक्रिय हैं और लगातार एक के बाद एक अवैध मादक पदार्थों पर कार्यवाही कर...
error: Content is protected !!