हाक फोर्स तथा छत्तीसगढ़ पुलिस पुलिस की संयुक्त कार्यवाही में माओवादियों का डंप बरामद, एमएमसी जोन को ध्वस्त करने की कड़ी में बड़ी सफलता

महाराष्ट्र – मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती क्षेत्र में माओवादियों द्वारा गठित एमएमसी जोन को ध्वस्त करने के लिए चलाए जा रहे नक्सल विरोधी अभियान हाक फोर्स STG 03 कैम्प मलैदा प्रभारी उप निरीक्षक गोपाल शर्मा को विश्वसनीय सूचना मुखबिर के माध्यम से मिली कि भावे जंगल में नक्सलियों के ट्रेनिंग कैंप के पास केरा पानी में माओवादियों का डम्प है जिसमें बड़ी मात्रा में नक्सलियों के सामान होने की संभावना है उक्त सूचना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा कर सूचना की तस्दीक सर्चिंग पार्टी निकालकर उक्त स्थान पर पहुंच बारीकी से तलाश पर पाया कि एक पहाड़ी के नीचे दबी हुई जमीन है जहां हमराही फोर्स की मदद से उस जगह की खुदाई की गई जिसमें प्लास्टिक की झिल्ली एवं लकड़ी के पटरों से ढकी हुई 500 लीटर की नीले रंग की एक पानी टंकी गाडकर रखी गई थी । टंकी का ढक्कन हटाने पर उसके अंदर एक 12 बोर बंदूक दो बंडल IED में प्रयुक्त होने वाला वायर 1 नग पेपर कटर ढाई सौ ग्राम के 11 पैकेट 500 ग्राम का एक, 200 ग्राम के 8 पैकेट, 1 किलो जीरा पैकेट प्लास्टिक की झिल्ली एवं बड़ी मात्रा में नक्सली साहित्य था बरामद सामग्री को जप्त कर थाना गातापार में जिसके फलस्वरूप यह सफलता प्राप्त हुई है।

उपरोक्त सफलता के लिए पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव  कमल लोचन कश्यप द्वारा मलैदा कैंप पर पहुंचकर उत्साहवर्धन हेतु टीम को ₹10000 के नगद पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया ।

पुलिस द्वारा लगातार ऑपरेशन चलाए जाने के फलस्वरूप जहां कई सफल मुठभेड़ हुई हैं वही बालाघाट एरिया कमेटी सदस्य अजीत के सरेंडर के साथ-साथ पुलिस द्वारा जप्त किए गए बड़ी मात्रा में डंप की बरामदगी MMC जोन को ध्वस्त करने की दिशा में महत्वपूर्ण कड़ी के रूप में देखा जा रहा है ।

235total visits,2visits today

Share this news
  •  
  •  
  •  
  •