You are here

CM ने कोरबा में दी 271 करोड़ रूपये से अधिक के विकास कार्यों की सौगात : कोरबा जिले के दर्री, हरदीबाजार और पसान को तहसील का दर्जा देने की घोषणा

00 एनएच की सड़कों की मरम्मत के लिए 30 करोड़ की सहायता

00 कोरबा में बनेगा नया ट्रांसपोर्टनगर

00 आईसीयू बर्न यूनिट के लिए साढ़े पांच करोड़ रूपये से अधिक की मंजूरी

00 कोरबा जिले में फुड प्रोसेसिंग इकाईयों की स्थापना हेतु 5 करोड़ 15 लाख रूपये की स्वीकृति

00 कोरबा जल आवर्द्धन योजना के दूसरे चरण का लोकार्पण, ग्राम चौपाल साफ्टवेयर का शुभारंभ

 

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज कोरबा प्रवास के दौरान जिले वासियों को 271 करोड़ 47 लाख रूपये के विकास कार्यों की सौगात दी और उनकी कई बहुप्रतिक्षित मांगों को भी पूरा किया। श्री बघेल ने चांपा-कोरबा और कटघोरा-बिलासपुर राष्ट्रीय राजमार्ग की मरम्मत के लिए राज्य सरकार द्वारा पहल करते हुए 30 करोड़ रूपये मंजूर किये। मुख्यमंत्री ने कोरबा वासियों की मांग पर चांपा-कोरबा-पाली-कटघोरा जर्जर मार्ग की मरम्मत के लिए 30 करोड़ रूपये घोषणा की। उन्होंने कोरबा के जिला चिकित्सालय में आईसीयू यूनिट, बर्न यूनिट, ओटी सुदृढ़ीकरण एवं डिजिटल एक्सरे सिस्टम तथा फिजियो थेरेपी यूनिट की स्थापना के लिए पांच करोड़ 60 लाख रूपये देने की भी घोषणा की। श्री बघेल ने जिले में चिरौंजी, काजू, मक्का, बेल, मशरूम और लाख प्रसंस्करण यूनिटों की स्थापना के लिए पांच करोड़ 15 लाख रूपये भी मंजूर किये। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कोरबा जिले के दर्री, हरदीबाजार और पसान को तहसीलों का दर्जा देने, कोरबा शहर में नये ट्रांसपोर्टनगर की स्थापना करने की भी घोषणा की। अपने उद्बोधन के दौरान उन्होंने आने वाले समय में कोरबा में मेडिकल कालेज शुरू करने की भी संभावना जताई। उन्होंने बरबसपुर-गोपालपुर और सर्वमंगला-ईमलीछापर फोरलाईन सड़क निर्माण सार्वजनिक उपक्रमों की सहायता से करने की भी स्वीकृति दी। मुख्यमंत्री ने नगरीय निकाय चुनाव के बाद बांकीमोंगरा को नगरपालिका का दर्जा देने तथा कोरबा के झुग्गी-झोपड़ी मंे रहने वाले लोगों को भूमि का आवासी पट्टा देने की भी घोषणा की।  इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने घंटाघर ओपन थियेटर में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा प्रारंभ किया गया नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी कार्यक्रम ग्रामीण अर्थव्यवस्था में मील का पत्थर साबित होगा। इससे स्थानीय स्तर पर रोजगार मुहैया हो सकेगा। उन्होंने कहा कि नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी कार्यक्रम महात्मा गांधी के ग्राम स्वराज की अवधारणा से प्रेरित महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष डा. चरण दास महंत, सांसद श्रीमती ज्योत्सना महंत, राज्य सभा सांसद श्रीमती छाया वर्मा, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, स्कूल शिक्षा मंत्री एवं कोरबा जिले के प्रभारी मंत्री डा. प्रेमसाय सिंह, विधायक देवेन्द्र यादव, विधायक पाली-तानाखार मोहित केरकेट्टा, विधायक कटघोरा पुरूषोत्तम कंवर, विधायक रामपुर ननकीराम कंवर, महापौर श्रीमती रेणु अग्रवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष देवीसिंह टेकाम, कमिश्नर बी.एल. बंजारे सहित जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों की भलाई के लिए ठोस कार्यक्रम एवं योजनाओं की शुरूआत की। गरीबों की भलाई के लिए 400 यूनिट तक बिजली खपत पर 50 प्रतिशत की छुट, 25 सौ रूपये प्रति क्विंटल धान की खरीदी सहित ऋणमाफी की योजना लागू की गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब एपीएल के प्रत्ये कार्डधारी परिवारों को 35 किलो चांवल प्रदाय किया जाएगा। श्री बघेल ने कहा कि देश के 50 आकांक्षी जिलों में छत्तीसगढ़ के 10 जिलों में कोरबा भी शामिल है। उन्होंने कहा कि सरकार आकांक्षी जिलों में प्राथमिकता से विकास के कार्यों को मूर्त रूप दे रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में हाट-बाजार स्लम क्लिनिक योजना सेस सभी को स्थानीय स्तर पर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ मिल रहा है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 12 चलित स्वास्थ्य क्लिनिक वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मुख्यमंत्री ने राज्य में कुपोषण, एनीमिया पर अपनी चिंता जाहिर करते हुए कहा कि बच्चे, माताएं सभी के बेहतर स्वास्थ्य के लिए सरकार सकारात्मक काम कर रही है। उन्होंने कहा कि स्वस्थ लोगों से ही मजबूत छत्तीसगढ़ का निर्माण हो सकेगा।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने गांधी विचार यात्रा के लिए गांव-गांव तक पहुंचने वाले पांच वाहनों को भी मंच से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उन्होंने  जिला प्रशासन द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन की मानिटरिंग के लिए तैयार किये गये गांव चौपाल साफ्टवेयर और एप्प का भी शुभारंभ किया। श्री बघेल ने प्लास्टिक फ्री कोरबा की थीम पर नगर निगम द्वारा तैयार की गई क्लीन सिटी कोरबा वीडियो सीडी का भी विमोचन किया।

मुख्यमंत्री ने कोरबा में इस अवसर पर 251 करोड़ रूपये के 42 विभिन्न कार्यों का लोकार्पण और 19.62 करोड़ के 62 कार्यों का शिलान्यास किया। उन्होंने हितग्राही मूलक योजनाओं के तहत 5881 हितग्राहियों को 3.9 करोड़ रूपये की विभिन्न सामग्रियों का वितरण किया गया। कार्यक्रम में भूपेश बघेल ने कोरबा शहर के नागरिकों को शुद्ध पेयजल की आपूर्ति हेतु अमृत मिशन योजना के तहत 230 करोड़ रूपये की लागत से निर्मित जल आवर्द्धन योजना का लोकार्पण किया।

लाईफ लाईन एक्सप्रेस से कोरबा वासियों को इक्कीस दिन तक लगातार मिलेगी ईलाज की बेहतर सुविधाः मुख्यमंत्री श्री बघेल

कैंसर, प्लास्टिक सर्जरी सहित दांत के रोगों का भी लाईफ लाईन एक्सप्रेस में होगा ईलाज

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज कोरबा रेलवे स्टेशन पर रेल चलित अस्पताल लाईफ लाईन एक्सप्रेस से स्वास्थ्य सुविधाओं का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस रेल चलित अस्पताल से अगले 21 दिनों तक कोरबा और उसके आसपास के ग्रामीण इलाकों से आए लोगों को ईलाज की बेहतर सुविधा मिलेगी। श्री भूपेश बघेल ने लाईफ लाईन एक्सप्रेस में स्थित आपरेशन थियेटरों में आंखों में मोतियाबिंद का आपरेशन कराने आये मरीजों से भी मुलाकात की और उन्हें सफल आपरेशन की शुभकामनाएं दी।
दुनिया की पहली चलित रेल अस्पताल लाईफ लाईन एक्सप्रेस दो नवंबर तक कोरबा रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर रहकर कोरबा वासियों का पूरी तरह निःशुल्क ईलाज करेगी। इस सात सुसज्जित बोगी वाले चलित रेल अस्पताल के विशेषज्ञ डाक्टरों द्वारा स्तन एवं सर्वाइकल कैंसर, मुंह के कैंसर की जांच एवं उपचार के साथ-साथ प्लास्टिक सर्जरी एवं दांतों के रोगों का भी ईलाज किया जायेगा। कोरबा वासियों को इस रेल अस्पताल में मोतियाबिंद, कटे-फटे होंठो, हड्डी से संबंधित विकारों, जलने से हुए विकारों से लेकर कान के आपरेशन तक की सुविधा निःशुल्क मिलेगी। लाईफ लाईन एक्सप्रेस में प्रशिक्षित एवं विशेषज्ञ डाक्टरों द्वारा ब्लडप्रेशर, डायबिटीज, मिर्गी जैसे रोगों का भी ईलाज होगा।

415total visits,3visits today

Share this news
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

error: Content is protected !!