SECL ने जीता कोल इंडिया चैंपियन का खिताब, चरचा कालरी के खिलाड़ियों ने दिखाया अपना दम खम

00 एसईसीएल की टीम में 7 खिलाड़ी चरचा के…

कोरिया चरचा कालरी से नीरज गुप्ता की रिपोर्ट / कोल इंडिया अंतर कंपनी फुटबॉल टूर्नामेंट में एसईसीएल की टीम में शामिल चरचा कालरी के 7 खिलाड़ियों ने जबरदस्त खेल व दमखम का प्रदर्शन करते हुए एसईसीएल की टीम को कोल इंडिया चैंपियन बनाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया।

यह पहला अवसर है जब पहली बार एसईसीएल की फुटबॉल टीम कोल इंडिया फुटबॉल टूर्नामेंट की चैंपियन बनी इसके पूर्व विगत 2 वर्षों से एसईसीएल के टीम फाइनल में रनर रहती थी। कोल इंडिया फुटबॉल टूर्नामेंट में सीसीएल, ईसीएल, बीसीसीएल , एमसीएल एनईसीएल ब्ल्यूसीएल ,एनसीएल सहित सभी अनुषांगिक कंपनियों की टीमों ने भाग लिया।

एसईसीएल की टीम में बैकुंठपुर क्षेत्र चरचा कालरी के सात खिलाड़ी सुनील बरला ,अब्दुल, रामजी, विकास बड़ा , रितेश्वर ,अखिलेश व मुक्तेश्वर शामिल थे। इसके अतिरिक्त सोहागपुर क्षेत्र से एक खिलाड़ी कोरबा क्षेत्र से एक खिलाड़ी कुसमुंडा क्षेत्र से खिलाड़ी व भटगांव क्षेत्र से पांच खिलाड़ियों को शामिल किया गया था। एसईसीएल के टीम के कैप्टन चरचा के सुनील बरला थे।

कोल इंडिया फुटबॉल टूर्नामेंट में एसईसीएल की टीम ने अपने पहले मैच में महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड को एक गोल से हराया, वहीं दूसरे मैच में बीसीसीएल से मैच ड्रा रहा, तीसरे मैच में एसईसीएल की टीम ने डब्ल्यूसीएल को तीन गोल से हराया, वहीं चौथे व फाइनल मैच मैं एनसीएल को 3-2 से पराजित किया।

कोल इंडिया फुटबॉल टूर्नामेंट में उपलब्धि के क्रम में एसईसीएल चरचा कालरी के खिलाड़ी मोहम्मद अब्दुल को मैन आफ द टूर्नामेंट का पुरस्कार दिया गया।

चरचा कालरी के कर्मचारियों व स्थानीय नागरिकों में फुटबॉल के प्रति अगाध लगाव व प्यार है यही वजह है कि फुटबॉल के खेल के इतिहास में बैकुंठपुर क्षेत्र चरचा कालरी का नाम सर्वविदित है। बैकुंठपुर क्षेत्र अंतर्गत चरचा कालरी के खिलाड़ी सुनील बरला जो कि वर्तमान में एसईसीएल टीम के कैप्टन है। विगत 6 सालों से निरंतर एसईसीएल की टीम की ओर से खेल रहे हैं चरचा कालरी में नौकरी के पूर्व सुनील बरला चर्चिल ब्रदर्स गोवा की टीम में शामिल थे व पढ़ाई के दौरान दो बार नेशनल गेम्स में भाग ले चुके हैं। इसके अतिरिक्त संतोष ट्राफी में भी इनका अच्छा प्रदर्शन रहा है। इसी क्रम में मोहम्मद अब्दुल भी 7 बार एसईसीएल की टीम में शामिल होकर कोल इंडिया टूर्नामेंट में अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन किए हैं। मोहम्मद अब्दुल भी संतोष ट्रॉफी में खेल चुके हैं। चरचा कालरी के खिलाड़ी राम जी विगत 4 वर्षों से लगातार एसईसीएल की टीम में शामिल है। इनके अतिरिक्त विकास बड़ा विगत 2 वर्षों से एसईसीएल की टीम में खेल रहे हैं उपलब्धि के क्रम में चरचा कालरी के खिलाड़ी रितेश्वर 4 वर्षों से लगातार एसईसीएल फुटबॉल टीम के सदस्य बने हुए हैं।इस प्रकार चरचा कालरी के खिलाड़ी एसईसीएल की टीम में अपना वर्चस्व बनाते हुए कोल इंडिया स्तर पर चरचा का नाम रोशन कर रहे हैं।

चरचा कालरी के कर्मचारी खिलाड़ियों की उपलब्धि पर चरचा कालरी के सह क्षेत्र प्रबंधक के . मेरे ने कहा की चरचा कालरी के फुटबॉल खिलाड़ियों ने कोल इंडिया स्तर पर एसईसीएल सहित चरचा कालरी बैकुंठपुर क्षेत्र का नाम रोशन किया है। यह हम सभी लोगों के लिए बेहद खुशी व गर्व की बात है। चरचा कालरी के खिलाड़ी निरंतर एसईसीएल की टीम का हिस्सा बने हुए हैं, यह बहुत बड़ी उपलब्धि है।

खान प्रबंधक वी. श्रीनिवास ने खिलाड़ियों को बधाई देते हुए कहा कि चरचा कालरी के खिलाड़ियों के अभूतपूर्व योगदान के साथ एसईसीएल की टीम चैंपियन बनी यह बेहद खुशी की बात है और इस खुशी को बयां करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं है आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि हमारे खिलाड़ियों का यह जोश आगे भी बरकरार रहेगा और चरचा का नाम सदैव चर्चित होते रहेगा। इस उत्कृष्ट प्रदर्शन से बैकुंठपुर क्षेत्र के अन्य खिलाड़ियों को भी प्रेरणा मिलेगी और वह भी आगे बढ़कर अपना बेहतर से बेहतर प्रदर्शन करेंगे। उत्पादन उत्पादकता और सुरक्षा के साथ ही खेलों के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए हम आगे हैं।

चरचा कालरी के सहायक कार्मिक प्रबंधक विकास शंकर ओझा जो स्वयं हॉकी के बेहतरीन खिलाड़ी हैं और विगत 15 वर्षों से निरंतर हॉकी खेल रहे हैं वह तीन बार एसईसीएल हॉकी टीम के कैप्टन रह चुके हैं ने भी चरचा की टीम सहित एसईसीएल की टीम को बधाई देते हुए शुभ कामनाएं दी हैं।

Share this news
  •  
  •  
  •  
  •