कौन है वो ममी जो 3000 साल बाद बोल उठी, क्या है 3000 साल बाद बोलने वाली ममी का राज ? जानकर रह जाएंगे दंग…

कौन है वो ममी जो 3000 साल बाद बोल उठी, क्या है 3000 साल बाद बोलने वाली ममी का राज ? जानकर रह जाएंगे दंग…

नई दिल्ली / पिरामिडों के रहस्य पर बनी हॉलीवुड की कई फिल्मों में ममी अपने ताबूत से बाहर आ जाती हैं. वो बोलने लगती हैं. उनकी आवाज दिल दहला देती है लेकिन अब फिल्मी ममी ही नहीं असली ममी भी बोलने लगी है. मिस्र की 3000 साल पुरानी एक ममी को दोबारा बोलते हुए सुना गया. ठीक वैसे ही जैसे 3000 साल पहले वो बोला करती थी. इस ममी का नाम नेस्यामूं है. 3000 साल पहले मिस्र के एक प्राचीन शहर में नेस्यामूं एक पुजारी था. उसकी मौत के बाद मिस्र…

Read More

‘पगड़ी किंग’ किशन – 135 तरह से ‘पगड़ियां’ बांधने का बना चुके रिकॉर्ड

‘पगड़ी किंग’ किशन – 135 तरह से ‘पगड़ियां’ बांधने का बना चुके रिकॉर्ड

बीकानेर / रंग-रंगीले राजस्थान की आन-बान-शान यहां की पगड़ियां हैं. ये दुनिया भर में सभी को अपनी ओर आकर्षित करती हैं. आज हम आपको एक ऐसे शख़्स के बारे में बताते हैं, जो कि एक पगड़ी किंग हैं. ये एक ऐसे कलाकार हैं, जो पगड़ी बांधने की एक कला के सरताज हैं. इनके हुनर को देख हर कोई सिर्फ़ एक बात कहता है वह पगड़ी हो तो किशन की बांधी हुई, वरना न हो. राजस्थान रंग, परंपराओं और शानो-शौक़त की वो धरती है, जिसकी पूरी दुनिया दीवानी है. इस शान में…

Read More

अजब गजब – पुलिस थाने में 5 साल से कैद हैं ठाकुर जी, कोर्ट भी नहीं कर रहा कार्रवाई

अजब गजब – पुलिस थाने में 5 साल से कैद हैं ठाकुर जी, कोर्ट भी नहीं कर रहा कार्रवाई

जोधपुर / शेरगढ़ पुलिस थाने में पिछले 5 साल से ठाकुर जी मंदिर शेरगढ़ की मूर्तियां बरामद की हुई पड़ी हैं लेकिन न्यायालय द्वारा नहीं छुड़ाई जा रही हैं.  ठाकुर जी मंदिर शेरगढ़ के तत्कालीन पुजारी प्रेमदास पुत्र पूनमदास वैष्णव ने 26 दिसंबर 2014 को शेरगढ़ पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि मंदिर में से चोर 6 अष्ट धातु की मूर्तियां चुरा कर ले गए. इस पर पुलिस ने शेरगढ़ निवासी आरोपी भोमाराम पुत्र श्यामाराम भील के कब्जे से मूर्तियां बरामद कर लीं थी और बरामद मूर्तियां शेरगढ़ पुलिस थाने के माल…

Read More

जानिए कहाँ श्मशान घाट में ENTRY के लिए लेनी पड़ती है TICKET, आखिर क्या देखने आते हैं लोग ?

जानिए कहाँ श्मशान घाट में ENTRY के लिए लेनी पड़ती है TICKET, आखिर क्या देखने आते हैं लोग ?

बीकानेर / आपने हमेशा शमशान घाट को साधारण रूप में देखा होगा. किसी की मौत पर लोग जाते हैं, लेकिन इस खबर में हम आपको ऐसे शमशान घाट के बारे में बता रहे है जिसे देखने के लिए बाकायदा आपको टिकट लेना पड़ेगा. इसमें बनी कलात्मक छतरियां देशी ही नहीं विदेशी पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है. शमशान घाट में एक ऐसी भी छतरी है, जिसमें कभी दूध निकलता था. बीकानेर के देवीकुंड सागर के शमशान घाट को देखने रोजाना सैकड़ों लोग आते हैं. देवी कुंड सागर वो स्थान है…

Read More

अजब गजब – कम से कम कपड़े पहनकर मनाया जाता है ‘Naked Festival’, जानें आखिर होता क्या इसमें ?

अजब गजब – कम से कम कपड़े पहनकर मनाया जाता है ‘Naked Festival’, जानें आखिर होता क्या इसमें ?

होंसू / दुनिया में कई तरह के फेस्टिवल मनाए जाते हैं जिनमें से एक है नेक्ड फेस्टिवल. इस फेस्टिवल की खासियत ये है कि इसे कम से कम कपड़े पहनकर मनाया जाता है. जापान के होंसू आइसलैंड में शनिवार को ये फेस्टिवल मनाया गया जिसमें सैकड़ों लोगों ने भाग लिया.   ये फेस्टिवल हर साल फरवरी महीने के तीसरे शनिवार को सैदाईजी कानोनियन मंदिर में मनाया जाता है. इस फेस्टिवल में लोग कम से कम कपड़ों में नजर आते हैं. कुछ लोग इसमें सफेद मोजों के साथ फनडोशी (जापानी कपड़े) पहनकर आते…

Read More

VIDEO – अष्टभुजा देवी मंदिर जहां देवी-देवताओं की ज्यादातर मूर्तियों पर सिर ही नहीं, 900 सालों से संरक्षित है मूर्तियां …

VIDEO – अष्टभुजा देवी मंदिर जहां देवी-देवताओं की ज्यादातर मूर्तियों पर सिर ही नहीं, 900 सालों से संरक्षित है मूर्तियां …

आज हम आपको बताने जा रहे हैं उत्तरप्रदेश के एक ऐसे मंदिर के बारे में, जहां देवी-देवताओं की ज्यादातर मूर्तियों पर सिर ही नहीं है। वैसे तो लोग खंडित मूर्तियों की पूजा नहीं करते हैं, लेकिन यहां इन मूर्तियों को 900 सालों से संरक्षित किया जा रहा है और इनकी पूजा भी की जाती है। यह मंदिर उत्तरप्रदेश की राजधानी से 170 किमी दूर प्रतापगढ़ के गोंडे गांव में स्तिथ है। यह मंदिर लगभग 900 साल पुराना हैं। अष्टभुजा धाम मंदिर की मूर्तियों के सिर औरंगजेब ने कटवा दिए थे।…

Read More

VIDEO – गड़ियाघाट माताजी के मंदिर में पानी से जलती है अखंड ज्योत, जानिए इस अनोखी घटना के बारे में …………………

VIDEO – गड़ियाघाट माताजी के मंदिर में पानी से जलती है अखंड ज्योत, जानिए इस अनोखी घटना के बारे में …………………

मध्यप्रदेश के गड़ियाघाट माताजी के मंदिर को अनोखी घटना के लिए जाना जाता है। कालीसिंध नदी के किनारे बने इस मंदिर में दीपक जलाने के लिए घी या तेल की जरूरत नहीं होती बल्कि, वह पानी से जलता है। इसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। पिछले 5 सालों से इस मंदिर में पानी से दीपक जलाए जा रहे हैं। गड़ियाघाट वाली माताजी के नाम से मशहूर यह मंदिर कालीसिंध नदी के किनारे आगर-मालवा के नलखेड़ा गांव से करीब 15 किमी दूर गाड़िया गांव के पास स्थित है।…

Read More

चमत्कार – 1 साल की बच्ची का लिवर ट्रांसप्लांट, खून संचार के लिए गाय के नसों का इस्तेमाल

चमत्कार – 1 साल की बच्ची का लिवर ट्रांसप्लांट, खून संचार के लिए गाय के नसों का इस्तेमाल

00 14 घंटो की लंबी सर्जरी के बाद बच्ची अब पूरी तरह से स्वस्थ है और उसे अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई है.  यह किसी चमत्कार से कम नहीं है कि जब किसी इंसान के शरीर में किसी जानवर की नसें लगाई जाएं. जी हां, ये हुआ है हरियाणा के गुरुग्राम के एक अस्पताल में. यह दुनिया का पहला ऐसा लिवर ट्रांसप्लांट है जिसमें गाय की नसों का उपयोग किया गया है. आइए जानते हैं इस हैरतअंगेज सर्जरी के बारे में… गुरुग्राम / दिल्ली से सटे साईबर सिटी गुरुग्राम  के…

Read More

VIDEO – श्रीराम 14 वर्ष के वनवास दौरान कोरिया के सीतामढ़ी – हरचौका और घाघरा में आए तो ये स्थल बने गवाह……..

VIDEO – श्रीराम 14 वर्ष के वनवास दौरान कोरिया के सीतामढ़ी – हरचौका और घाघरा में आए तो ये स्थल बने गवाह……..

भगवान राम ने वनवास काल के दौरान एक बड़ा समय छत्तीसगढ़ सरगुजा संभाग के कोरिया वन्य क्षेत्रो में बिताया था और इस बात के कई ऐतिहासिक प्रमाण भी क्षेत्र में देखने को मिलते है।  आपको बता दे की प्रभु श्रीराम को 14 वर्ष का वनवास हुआ। इस वनवास काल में श्रीराम ने कई ऋषि-मुनियों से शिक्षा और विद्या ग्रहण की, तपस्या की और भारत के आदिवासी, वनवासी और तमाम तरह के भारतीय समाज को संगठित कर उन्हें धर्म के मार्ग पर चलाया। संपूर्ण भारत को उन्होंने एक ही विचारधारा के सूत्र में बांधा।  अयोध्या नरेश राजा दशरथ के…

Read More

VIDEO अजब-गजब – 8 सालों से अन्न जल त्याग दिया फिर भी जिंदा और पूरी तरह स्वस्थ भी है कोरिया कि पम्मी …

VIDEO अजब-गजब – 8 सालों से अन्न जल त्याग दिया फिर भी जिंदा और पूरी तरह स्वस्थ भी है कोरिया कि पम्मी …

एक लड़की जिसकी उम्र सत्रह साल है और उसने महज नौ साल की उम्र से अन्न जल का पूरी तरह से त्याग कर दिया है। इसके बाद भी कोरिया जिले के डुमरिया इलाके में रहने वाली पम्मी नामक लड़की पूरी तरह स्वस्थ है। पम्मी तीन साल पहले तक जमीन पर पैर भी नही रखती थी ।  पैर रखने पर धरती कांपती थी और फट भी  जाती थी। माता का आदेश मिलने के बाद उसने फिर से चलना शुरू किया। अन्न जल का त्याग कर चुकी पम्मी घरेलू काम भी करती…

Read More