अमित शाह ने कहा- प्रज्ञा समेत 3 नेताओं के बयानों से भाजपा का लेना-देना नहीं, 10 दिन में रिपोर्ट मांगी

नई दिल्ली / भाजपा नेताओं द्वारा दिए गए विवादास्पद बयानों के चलते पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को डैमेज कंट्रोल के लिए आना पड़ा। उन्होंने ट्वीट किया कि 2 दिन में 3 नेताओं के बयानों का भाजपा से कोई लेना-देना नहीं है। इसको लेकर अनुशासन समिति 10 दिन में रिपोर्ट पेश करेगी। भोपाल से भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने गुरुवार को प्रचार के दौरान कहा कि नाथूराम गाेडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। गोडसे को आतंकी कहने वाले अपने गिरेबां में झांककर देखें। विवाद होने पर प्रज्ञा ने माफी मांग ली। बयान की रिपोर्ट आगर-मालवा के जिला निर्वाचन अधिकारी ने मध्यप्रदेश चुनाव आयोग को सौंप दी।

शाह ने कहा, ‘‘विगत 2 दिनों में अनंत कुमार हेगड़े (केंद्रीय मंत्री), साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर (भोपाल से उम्मीदवार) और नलिन कटील (दक्षिण कन्नड़ सीट से सांसद) के जो बयान आए हैं, वे उनके निजी बयान हैं। उन बयानों से भारतीय जनता पार्टी का कोई संबंध नहीं है। इन लोगों ने अपने बयान वापस लिए और माफी भी मांगी। फिर भी सार्वजनिक जीवन और भाजपा की गरिमा और विचारधारा के विपरीत इन बयानों को पार्टी ने गंभीरता से लिया है। तीनों बयानों को अनुशासन समिति को भेजने का निर्णय किया गया है। समिति तीनों नेताओं से जवाब मांगकर पार्टी को 10 दिन में रिपोर्ट दे।’’

Share this news
  •  
  •  
  •  
  •