गणतंत्र दिवस की 71वीं सालगिरह गरिमामय एवं हर्षोल्लास से मनायी गयी, कोरोना योध्दाओं के रूप में उत्कृष्ट कार्य करने वाले हुए सम्मानित

406

00 कोरिया जिले में गणतंत्र दिवस की 71वीं सालगिरह गरिमामय एवं हर्षोल्लास से मनायी गयी
00 जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर में संसदीय सचिव एवं विधानसभा क्षेत्र नवागढ़ के विधायक श्री बंजारे ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया
00 कोरोना योध्दाओं के रूप में उत्कृष्ट कार्य करने वाले हुए सम्मानित
कोरिया / भारत के गणतंत्र दिवस की 71वीं सालगिरह कोरिया जिले में गरिमामय और हर्षोल्लास से मनायी गयी। जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर में संसदीय सचिव एवं विधानसभा क्षेत्र नवागढ़ के विधायक श्री गुरूदयाल सिंह बंजारे ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा मुख्यमंत्री श्री भूपेष बघेल का प्रदेश की जनता के नाम प्रेषित संदेश का वाचन किया। गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह बैकुण्ठपुर के शासकीय आदर्श रामानुज उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय के मिनी स्टेडियम में सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि श्री बंजारे ने प्रदेष के मुख्यमंत्री श्री भूपेष बघेल और अपने ओर से प्रदेष सहित कोरिया जिले के नागरिकों को गणतंत्र दिवस की बधाई और षुभकामनाएं दी।


कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री बंजारे ने सवेरे 9 बजे समारोह स्थल पर राश्ट्रीय ध्वज फहराया। ध्वजारोहण के पश्चात मुख्य अतिथि द्वारा रंग बिरंगे गुब्बारे आकाष में छोड़े गये। इस अवसर पर कलेक्टर श्री एस एन राठौर और पुलिस अधीक्षक श्री चन्द्रमोहन सिंह भी उनके साथ थे।
मुख्यमंत्री श्री बघेल के प्रदेष की जनता के नाम प्रेषित संदेश का वाचन करते हुए मुख्य अतिथि श्री बंजारे ने कहा कि हमारा छत्तीसगढ़ महान स्वतंत्रता सेनानियों और संविधान निर्माताओं की आशाओं के अनुरूप सद्भाव और समरसता के रास्ते पर अडिग रहा है। उन्होंने विकास के छत्तीसगढ़ मॉडल की सफलता का उल्लेख करते हुए आदिवासी अंचलों में स्थानीय नेतृत्व को सम्मान और अधिकार देने के लिए बस्तर, सरगुजा तथा मध्य क्षेत्र विकास प्राधिकरणों में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष की नियुक्ति, 7 से बढ़ाकर 52 लघु वनोपजों की समर्थन मूल्य पर खरीदी, सामुदायिक वन अधिकार पत्र तथा सामुदायिक वन संसाधन पत्र, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, स्वामी आत्मानंद इंग्लिष मीडियम स्कूल, छत्तीसगढ़ खेल विकास प्राधिकरण तथा मुख्यमंत्री कौषल उन्नयन योजना के बारे में बताया। इसके साथ ही प्रदेष के चहुंमुखी विकास में अपना योगदान देती सिंचाई परियोजनाओं, मनरेगा, विभिन्न सड़क योजनाओं, मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना, शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना, सुपोशण अभियान एवं सार्वभौम पीडीएस योजना का उल्लेख किया।


संदेष का वाचन करते हुए श्री बंजारे ने कोरोना वैक्सीन की खोज करने वाले महान वैज्ञानिकों को नमन करते हुए समस्त प्रदेष वासियों से टीकाकरण अभियान को सफल बनाने में सहयोग प्रदान करने की बात कही। साथ ही नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने के लिए समस्त जनता का आह्वान किया।
मुख्य अतिथि श्री बंजारे ने परेड कमांडर श्री गिरिजाशंकर साव एवं परेड टू आईसी सुश्री मोनिका मरावी को शील्ड प्रदान कर सम्मानित किया।

कोरोना महामारी के समय अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले कोरोना वारियर्स को पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया और उनका हौसला बढाया। जिसमें पुलिस अधीक्षक कार्यालय के निरीक्षक (अ) फ्रांसिस जेवियर बेक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सहायक उप निरीक्षक कोमल देव सोनवानी, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनहत के चिकित्सा अधिकारी डाॅ. अमरदीप जायसवाल, रिजन अस्पताल चरचा के चिकित्सा अधिकारी डाॅ. कल्याण सरकार एवं डाॅ. एस. के. बिराजी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हल्दीबाड़ी के संविदा आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी डाॅ. राजेश सिंह यादव, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कटगोड़ी के संविदा आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी डाॅ. राजकुमार शर्मा, अशासकीय वृध्दाश्रम धौराटिकरा की अधीक्षिका श्रीमती कल्पना चक्रवर्ती, प्राथमिक शाला फाटपानी  के सहायक शिक्षक अशोक लोधी, माध्यमिक शाला देवसील के शिक्षक श्री अमीन कुमार, पूर्व माध्यमिक शाला डाड़हंसवाही की शिक्षक श्रीमती सिलिना लकड़ा, कोविड कंट्रोल रूम के आयुष मेडिकल आफिसर डाॅ. बी. आर. नायर, कार्यालय सहायक आयुक्त आदिवासी विकास के सहायक ग्रेड 02 अतुल गुप्ता, कलेक्टोरेट कार्यालय के सहायक ग्रेड 02 श्रीमती ललिता पैकरा, श्रम विभाग के डाटा एण्ट्री आॅपरेटर संतोष कुमार त्रिपाठी एवं सहायक ग्रेड 02 निलेश कुमार साहू, चेम्बर्स आॅफ कामर्स मनेन्द्रगढ़ के शारदा गुप्ता, व्यापार संघ बैकुण्ठपुर के संजय गुप्ता, शासकीय रामानुूज प्रताप सिंहदेव स्नातकोत्तर महाविद्यालय बैकुण्ठपुर की छात्रा कु. शालिनी सिंह श्याम एवं कु. शबाना बेगम और छात्र आकाश सिंह, शासकीय नवीन कन्या महाविद्यालय बैकुण्ठपुर की छात्रा कु. शक्ति राजवाड़े एवं कु. अल्फा बड़ा, पंडित ज्वाला प्रसाद उपाध्याय शासकीय महाविद्यालय पटना के छात्र बिहारी लाल शामिल हैं। इसी तरह उन्होंने जिले में निवासरत शहीद अधिकारी/कर्मचारी के आश्रितों को भी श्रीफल और शाल प्रदान कर सम्मानित किया।

इस अवसर पर सोषल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए जिला एवं पुलिस प्रषासन के वरिश्ठ अधिकारी, वरिष्ठ नागरिकों, जनप्रतिनिधियों, मीडिया के प्रतिनिधिगण, शिक्षक-शिक्षिकाएं और मीडिया प्रतिनिधि एवं नगरवासी मौजूद थे।