Wednesday, April 14, 2021
TOP NEWS पति के हक में SC का ऐतिहासिक फैसला, पत्नी...

पति के हक में SC का ऐतिहासिक फैसला, पत्नी पर मानसिक क्रूरता का आरोप

-

- Advertisment -

नई दिल्ली / एक तलाक केस पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा जजमेंट दिया है. कोर्ट ने कहा, ‘जब जीवनसाथी के सम्मान को उसके सहकर्मियों, उसके वरिष्ठों और समाज के बीच बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचाया जाता है तो ऐसे आचरण को माफ करने की उम्मीद करना मुश्किल होगा.’

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को एक मिलिट्री ऑफिसर का उसकी पत्नी से तलाक मंजूर करते हुए कहा कि जीवनसाथी के खिलाफ मानहानिकारक शिकायतें करना और उसके सम्मान को ठेस पहुंचाना मानसिक क्रूरता के समान है.


जस्टिस एस. के. कौल के नेतृत्व वाली पीठ ने कहा कि उत्तराखंड हाई कोर्ट ने टूटे हुए संबंध को मिडिल क्लास मैरिड लाइफ की सामान्य टूट-फूट करार देकर अपने निर्णय में खामी की. यह निश्चित तौर पर प्रतिवादी द्वारा अपीलकर्ता के खिलाफ क्रूरता का मामला है. अपीलकर्ता अपनी शादी को खत्म करने का हकदार है.


गौरतलब है कि मिलिट्री ऑफिसर ने एक सरकारी पोस्ट ग्रेजुएशन कॉलेज में फैकल्टी मेंबर अपनी पत्नी पर मानसिक क्रूरता का आरोप लगाकर तलाक मांगा था. दोनों की शादी साल 2006 में हुई थी. वे कुछ महीने तक साथ रहे, लेकिन शादी की शुरुआत से ही उनके बीच मतभेद होने लगे और वे 2007 से अलग रहने लगे. अफसर ने कहा था कि उसकी पत्नी ने विभिन्न जगहों पर उनके सम्मान को ठेस पहुंचाया है.


इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ‘जब जीवनसाथी के सम्मान को उसके सहकर्मियों, उसके वरिष्ठों और समाज के बीच बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचाया जाता है तो प्रभावित पक्ष से ऐसे आचरण को माफ करने की उम्मीद करना मुश्किल होगा.’ पीठ में जस्टिस दिनेश माहेश्वरी और जस्टिस हृषिकेश रॉय भी थे.

Latest news

देश कोरोना से लड़ रहा और भाजपाई आपस मे, अब तो कांग्रेसी भी ले रहे मजे, भाजयुमो जिलाध्यक्ष नियुक्तियों को बता रहे निराधार

कोरिया / लम्बे इंतजार के बाद भारतीय जनता पार्टी के भाजयुमो कोरिया जिला अध्यक्ष का चयन हो...

कोरोना की सभी जांच दरों में कमी की गई, RTPCR 550 रूपये में होगा ...

            रायपुर / कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए राज्य शासन ने...

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) की नई कार्यकारिणी घोषित, 250 सदस्य पदाधिकारी बनाए गए, देखें सूची…

रायपुर / प्रदेश में तेज़ी से बढ़ते कोरोना महामारी के संकट को ध्यान...

लॉकडाउन में कड़े प्रतिबंध के बावजूद भी जारी है घंटानाद सत्याग्रह

कोरिया जिले में लॉकडाउन के दौरान प्रशासन के कड़े प्रतिबंध के बावजूद रेलवे डिवीजन बिलासपुर के पूर्व...
- Advertisement -

कोरोना वारियर्स दे रहे विकासखंडवार सेशन साइटो में निरंतर सेवायें, कोविड टीकाकरण और जांच के लिए 82 स्थल निर्धारित

कोरिया / बढ़ते हुए कोरोना संक्रमण को द्रष्टिगत रखते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना नियंत्रण के लिए...

Must read

- Advertisement -

You might also likeRELATED
Recommended to you