Wednesday, April 14, 2021
देश विदेश अब पाकिस्तान से न ‘चर्चा’ करने जॉन कैरी आ...

अब पाकिस्तान से न ‘चर्चा’ करने जॉन कैरी आ रहे, न ‘शिखर सम्मेलन’ में बाइडेन बुला रहे, बुरा फसा पाकिस्तान

-

- Advertisment -



जलवायु परिवर्तन से जुड़े मामलों पर अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के विशेष दूत जॉन कैरी जलवायु संकट पर चर्चा करने के लिए एक से नौ अप्रैल के बीच भारत, बांग्लादेश और यूएई की यात्रा पर जाएंगे. विदेश मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि 22-23 अप्रैल के बीच जलवायु परिवर्तन पर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन द्वारा आयोजित ‘नेताओं के शिखर सम्मेलन’ और इस साल के आखिर में ‘संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन से पहले कैरी इस मुद्दे पर विचार विमर्श के लिए इन देशों की यात्रा करेंगे. हालांकि कैरी पाकिस्तान नेतृत्व के साथ मुलाकात नहीं करेंगे, जो जलवायु परिवर्तन के मामले में दुनिया के सबसे कमजोर देशों में से एक है.

कैरी ने ट्वीट किया कि जलवायु संकट से निपटने के लिए अमीरात, भारत और बांग्लादेश में दोस्तों के साथ सार्थक चर्चा को लेकर उत्साहित हूं. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत विश्व के 40 नेताओं को जलवायु परिवर्तन से निपटने को लेकर वार्ता के मकसद से आयोजित होने वाले ‘नेताओं के शिखर सम्मेलन’ के लिए आमंत्रित किया है लेकिन इस लिस्ट में पाकिस्तान का नाम नहीं है.


शिखर सम्मेलन से पाकिस्तान के बहिष्कार ने कई विश्लेषकों के बीच खलबली पैदा कर दी है. कईयों ने सवाल उठाते हुए कहा कि पाक प्रधानमंत्री इमरान खान पर्यावरण और ग्लोबल वॉर्मिंग की ओर खास ध्यान दे रहे हैं. विदेश मंत्रालय ने पिछले हफ्ते ही संकेत दे दिए थे कि पाकिस्तान को व्हाइट हाउस शिखर सम्मेलन के लिए नहीं बुलाया गया है.

इस शिखर सम्मेलन का मकसद जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए ठोस कदम उठाने के आर्थिक लाभ और महत्व को रेखांकित करना है. व्हाइट हाउस ने पिछले सप्ताह कहा था कि यह ग्लासगो में इस साल नवंबर में होने वाले संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (सीओपी26) के मार्ग में एक मील का पत्थर साबित होगा.


व्हाइट हाउस के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी के अलावा चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा, ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो, इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू, सऊदी अरब के शाह सलमान बिन अब्दुलअजीज अल सऊद और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन समेत 40 नेताओं को शिखर सम्मेलन के लिए आमंत्रित किया गया है, जिसका लाइव टेलीकास्ट किया जाएगा.

इन नेताओं के अलावा दक्षिण एशिया से बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और भूटान के प्रधानमंत्री लोते शेरिंग को भी सम्मेलन में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है. व्हाइट हाउस ने कहा कि इस शिखर सम्मेलन और सीओपी26 का मुख्य लक्ष्य वैश्विक तापमान को 1.5 डिग्री सेल्सियस से नीचे रखने के प्रयासों को गति देना है.


उसने कहा कि इस सम्मेलन में इन उदाहरणों को भी रेखांकित किया जाएगा कि जलवायु महत्वाकांक्षा से अच्छे वेतन वाली नौकरियां कैसे पैदा होती हैं? नवोन्मेषी तकनीक विकसित करने में कैसे मदद मिलती है और कमजोर देशों को जलवायु परिवर्तन के प्रभाव के अनुसार ढलने में कैसे सहायता मिलती है?

व्हाइट हाउस ने कहा कि शिखर सम्मेलन के आयोजन से पहले अमेरिका पेरिस समझौते के तहत अपने नए राष्ट्रीय निर्धारित योगदान के रूप में महत्वाकांक्षी 2030 उत्सर्जन लक्ष्य की घोषणा करेगा. इस सम्मेलन में वे 17 देश हिस्सा लेंगे, जो वैश्विक स्तर पर 80 प्रतिशत उत्सर्जन के लिए जिम्मेदार हैं और वैश्विक जीडीपी में उनकी 80 प्रतिशत भूमिका है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest news

देश कोरोना से लड़ रहा और भाजपाई आपस मे, अब तो कांग्रेसी भी ले रहे मजे, भाजयुमो जिलाध्यक्ष नियुक्तियों को बता रहे निराधार

कोरिया / लम्बे इंतजार के बाद भारतीय जनता पार्टी के भाजयुमो कोरिया जिला अध्यक्ष का चयन हो...

कोरोना की सभी जांच दरों में कमी की गई, RTPCR 550 रूपये में होगा ...

            रायपुर / कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए राज्य शासन ने...

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) की नई कार्यकारिणी घोषित, 250 सदस्य पदाधिकारी बनाए गए, देखें सूची…

रायपुर / प्रदेश में तेज़ी से बढ़ते कोरोना महामारी के संकट को ध्यान...

लॉकडाउन में कड़े प्रतिबंध के बावजूद भी जारी है घंटानाद सत्याग्रह

कोरिया जिले में लॉकडाउन के दौरान प्रशासन के कड़े प्रतिबंध के बावजूद रेलवे डिवीजन बिलासपुर के पूर्व...
- Advertisement -

कोरोना वारियर्स दे रहे विकासखंडवार सेशन साइटो में निरंतर सेवायें, कोविड टीकाकरण और जांच के लिए 82 स्थल निर्धारित

कोरिया / बढ़ते हुए कोरोना संक्रमण को द्रष्टिगत रखते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना नियंत्रण के लिए...

Must read

- Advertisement -

You might also likeRELATED
Recommended to you