Tuesday, October 26, 2021
TOP NEWS सबसे प्रभावशाली लोगों की लिस्‍ट में PM मोदी, ममता...

सबसे प्रभावशाली लोगों की लिस्‍ट में PM मोदी, ममता और तालिबान का सह-संस्थापक मुल्ला बरादर का भी नाम

-

- Advertisment -

दिल्ली // टाइम पत्रिका द्वारा जारी 2021 के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला शामिल हैं. तालिबान के सह-संस्थापक मुल्ला अब्दुल गनी बरादर का नाम शामिल है. टाइम ने बुधवार को ‘2021 के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों’ की अपनी वार्षिक सूची जारी की.

नेताओं की इस वैश्विक सूची में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन, उपराष्ट्रपति कमला हैरिस, चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, ड्यूक और डचेस ऑफ ससेक्स प्रिंस हैरी और मेगन और अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शामिल हैं. इस सूची में तालिबान का सह-संस्थापक मुल्ला अब्दुल गनी बरादर भी शामिल है.

पीएम मोदी के टाइम प्रोफाइल में कहा गया है कि एक स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में अपने 74 वर्षों में भारत के तीन प्रमुख नेता रहे हैं. इनमें जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी और नरेंद्र मोदी शामिल हैं. देश की राजनीति पर हावी होने वाले नरेंद्र मोदी तीसरे नेता हैं, उनके बाद कोई नहीं है. प्रसिद्ध सीएनएन पत्रकार फरीद जकारिया द्वारा लिखी गई प्रोफ़ाइल में आरोप लगाया गया है कि पीएम मोदी ने “देश को धर्मनिरपेक्षता से और हिंदू राष्ट्रवाद की ओर धकेल दिया है.” उन्होंने पीएम मोदी पर भारत के मुस्लिम अल्पसंख्यकों के “अधिकारों को खत्म करने” और पत्रकारों को कैद करने व डराने-धमकाने का भी आरोप लगाया है.

ममता बनर्जी की प्रोफ़ाइल में कहा गया है कि 66 वर्षीय नेता भारतीय राजनीति में प्रचंडता का चेहरा बन गई हैं. ममता बनर्जी के बारे में कहा जाता है वह अपनी पार्टी तृणमूल कांग्रेस का नेतृत्व नहीं करती हैं, बल्कि खुद एक पार्टी हैं. सड़क पर लड़ने वाली भावना और पितृसत्तात्मक संस्कृति में स्व-निर्मित जीवन ने उन्हें अलग किया है.

अदार पूनावाला के टाइम प्रोफाइल में कहा गया है कि COVID-19 महामारी की शुरुआत से दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन निर्माता के 40 वर्षीय प्रमुख ने पीछे मुड़कर नहीं देखा. महामारी अभी खत्म नहीं हुई है और पूनावाला अब महामारी को खत्म करने में मदद कर सकते हैं.

द टाइम प्रोफाइल तालिबान के सह-संस्थापक बरादर के बारे में बताया गया है, ‘ऐसा कहा जाता है कि वह सभी प्रमुख फैसले ले रहा था, जिसमें पूर्व सरकार के सदस्यों को दी जाने वाली माफी, तालिबान के काबुल में प्रवेश करने पर रक्तपात ना करना और पड़ोसी देशों, विशेष रूप से चीन और पाकिस्तान की सरकार के साथ संपर्क करना और वहां के दौरे करना शामिल थे. अब वह अफगानिस्तान के भविष्य के लिए एक आधार के रूप में खड़ा है. अंतरिम तालिबान सरकार में, उसे उप प्रधानमंत्री बनाया गया है, शीर्ष भूमिका एक अन्य नेता को दी गई है, जो तालिबानी कमांडरों की युवा और अधिक कट्टरपंथी पीढ़ी को ज्यादा स्वीकार्य है.’

Latest news

जिले में लॉ एण्ड आर्डर बनाए रखने के लिए प्रशासन व पुलिस समन्वय से करें काम – कलेक्टर कोरिया

बंटवारा प्रकरणों के लिए मुनादी कराकर आवेदन लें और शीघ्र निराकरण करें - कलेक्टर श्री धावड़े, लोकहित...

पेट्रोल -डीजल के बढ़ती दामों से जनता परेशान – वंदना राजपूत

महंगाई के मुद्दे पर चर्चा करने से डरते है नरेंद्र मोदी

ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष की गुंडागर्दी से चिखली चौकी प्रभारी का स्थानांतरण दुर्भाग्यपूर्ण – समीर श्रीवास्तव

राजनांदगांव / संस्कारधानी राजनांदगांव शहर के स्थानीय चिखली चौकी प्रभारी चेतन चंद्राकर के...

एक नवम्बर से हो धान खरीदी अन्न दाताओं को किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो- जितेंद वर्मा

पाटन / भाजपा विधायक दल के स्थायी सचिव जितेंद वर्मा ने कहा कि...
- Advertisement -

सड़क चौड़ीकरण अभियान में युवाओं के साथ हुए देवेंद्र , समर्थन में सौंपा पत्र

कोरिया / विगत दिनों से बैकुंठपुर के युवाओं ने शहर के मुख्य मार्ग के चौड़ीकरण का अभियान...

निजात अभियान के तहत OST सेंटर एवं “राह” निःशुल्क कोचिंग क्लास का सरगुजा IG ने किया शुभारंभ

पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज अजय यादव का कोरिया में निरीक्षण जारी पुलिस लाईन के...

Must read

- Advertisement -

You might also likeRELATED
Recommended to you

error: Content is protected !!